बिलासपुर

बिलासपुर: विधायक शैलेश और तैयब के बीच कालर वाले मामले में जांच टीम ने लिया बयान, जानें अपने शिकायत में पांडेय ने क्या कहा है…

बिलासपुर। शहर विधायक शैलेश पांडेय और ब्लाक अध्यक्ष तैयब हुसैन के बीच सर्किट हाउस में हुए विवाद और धक्का मुक्की की शिकायत को लेकर जांच कमेटी ने शुक्रवार को दोनों पक्षों के बयान लिए। बयान के बाद कमेटी के सदस्य चुन्नीलाल साहू ने माना कि शैलेश पांडेय ने अपने शिकायत में कालर पकड़ने की बात की है।

प्रदेश अध्यक्ष मोहन मरकाम के निर्देश बनी कमेटी के सदस्य पूर्व विधायक और प्रदेश उपाध्यक्ष चुन्नी लाल साहू, प्रदेश महामंत्री कन्हैयालाल अग्रवाल, प्रभारी मंत्री पीयूष कोसरे मामले की जांच करने और दोनों पक्ष का बयान लेने के लिए दोपहर 12 शहर पहुंच गए थे। जांच कमेटी के आते ही छत्तीसगढ़ भवन में गहमा गहमी बढ़ गई। दोनो पक्षों के कार्यकर्ता एकत्रित होने लगे थे। जांच कमेटी के समस्यों ने सबसे पहले शैलेश पांडेय को बयान लेने के लिए बुलाया और लगभग एक घंटे तक उनका पक्ष सुना। अपना बयान दर्ज कराने के बाद बाहर निकलकर पत्रकारों से चर्चा करते हुए शैलेश पांडेय ने कहा कि उनके साथ दुर्ब्यावहार किया गया है।

वो अपनी पार्टी से न्याय चाहते है और चाहते है कि उनके साथ दुर्बयवहार करने वालों के खिलाफ सख्त करवाई की जाए। पार्टी ने उनको टिकट दिया था और आज वो जनता के चुने हुए प्रतिनिधि के रूप में काम कर रहे है। पांडेय का बयान लेने के बाद जांच कमेटी ने ब्लाक अध्यक्ष तैयब हुसैन का बयान लिया जो लगभग 20 मिनट में ही समाप्त हो गया। बयान दर्ज कराने के बाद पत्रकारों से चर्चा करते है विधायक से दुर्बयवहार करने की बात से इनकार किया और कहा कि जहां पर विधायक से विवाद होने की बात कही जा रही है वहां पर मीडिया के लोग भी उपस्थित थे। यदि शिकायत में सच्चाई होती तो मीडिया के साथियों के पास कोई तो आडियो-वीडियो होता।

उन्होंने कहा कि शिकायत झूठी है। दोनों पक्षों का बयान लेने के बाद कमेटी अपना रिपोर्ट प्रदेश अध्यक्ष मोहन मरकाम को सौपेंगे। वही बयान दर्ज करने के बाद कमेटी के सदस्य पूर्व विधायक और प्रदेश उपाध्यक्ष चुन्नी लाल साहू ने पत्रकारों से चर्चा करते हुए कहा कि विधायक शैलेश पांडेय ने प्रदेश अध्यक्ष मोहन मरकाम से शिकायत किया था जिसमें उन्होंने सर्किट हाउस में ब्लाक अध्यक्ष तैयब हुसैन पर दुर्बयवहार करने का आरोप लगाया है। इसी शिकायत के आधार पर जांच कमेटी गठित की गई है। आज दोनो पक्षों के बयान लिए गए है। जल्द ही रिपोर्ट प्रदेश अध्यक्ष को सौप दी जाएगी। एक सवाल के जवाब में साहू ने मन की शैलेश पांडेय की शिकायत में कालर पकड़ने की बात आई है। उन्होंने कहा है कि उनके साथ धक्का-मुक्की की गई है।

गौरतलब है कि पिछले दिनों प्रदेश मुख्यमंत्री भूपेश बघेल बिलासपुर के दो दिवसीय प्रवास पर थे। रविवार को उन्होंने शहर को करोड़ो रूपये की सौगात दी और दूसरे दिन सोमवार को वे सेलर में बन रहे गोठान का निरक्षण करने जाने वाले थे। इसी दौरान शहर के सारे कांग्रेस नेता और पदाधिकारी सर्किट हाउस पहुंचे थे। इसी दौरान सर्किट हाउस में ही विधायक शैलेश पांडेय और ब्लाक अध्यक्ष तैयब हुसैन के बीच विवाद हो गया जो देखते ही देखते धक्का मुक्की में बदल गई थी। इस घटना को लेकर पांडेय ने कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष मोहन मरकाम से शिकायत की थी और ब्लाक अध्यक्ष के खिलाफ सख्त कार्रवाई करने की मांग की थी। इस शिकायत के बाद मरकाम ने मामले की जांच करने के लिए कमेटी गठितकर तीन दिन के अंदर जांच कर रिपोर्ट प्रस्तुत करने के लिए कहा था।

विधायक से हुई बदसलूकी के मामले में घटना के दौरान बड़ी संख्या में कांग्रेसी नेता एवं पदाधिकारी, कई पार्षद एवं एल्डरमैन छत्तीसगढ़ भवान मौजूद थे। इसी तरह बिलासपुर विधायक शैलेश पांडे, जिला कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष विजय केशरवानी शहर कांग्रेस कमेटी के अध्यक्ष प्रमोद नायक युवा नेता पंकज सिंह, कांग्रेस के प्रदेश प्रवक्ता अभय नारायण राय, कांग्रेस के प्रदेश सचिव महेश दुबे टाटा, धर्मेश शर्मा, राजकुमार तिवारी, अकबर खान, महिला कांग्रेस की जिला अध्यक्ष सीमा पांडे, आशा सिंह, कांग्रेस के प्रवक्ता ऋषि पांडे समेत बड़ी संख्या में कांग्रेसजन इस समय छत्तीसगढ़ भवन परिसर में मौजूद थे।

Related Articles

Back to top button
Close
Close
Open chat