बिलासपुर

बिलासपुर: अतिरिक्त तहसीलदार जायसवाल पर गंभीर आरोप…बिल्डिंग मटेरियल सप्लायर ने कहा- महीना नहीं देने पर जान से मारने की देते हैं धमकी…

बिलासपुर। शहर के एक बिल्डिंग मटेरियल सप्लायर ने बिलासपुर के अतिरिक्त तहसीलदार पर गंभीर आरोप लगाकर सनसनी फैला दी है। उनका दावा है कि अतिरिक्त तहसीलदार उनसे दो लाख रुपए की मांग कर रहे हैं और उनके काम में भागीदार बनाने के लिए दबाव डाल रहे हैं। ऐसा नहीं करने पर बर्बाद करने की धमकी तक देते हैं।

सरकंडा थाना अंतर्गत प्रगति विहार बहतराई रोड निवासी सतीश सिंह ठाकुर पिता स्व. रामेश्वर सिंह ठाकुर बिल्डिंग मटेरियल सप्लायर व जमीन खरीद-बिक्री का कार्य करता है। सतीश सिंह ने आरोप लगाते हुए बताया है कि अतिरिक्त तहसीलदार शेष नारायण जायसवाल ने उन्हें अपने ऑफिस में मिलने के लिए बुलाया। वहां उनसे कहा गया कि वह उन्हें महीने में 2 लाख रुपए दें और अपने जमीन खरीद- बिक्री के कार्य में उन्हें अपना भागीदार बनाएं। उन्होंने रुपए देने और अपने कार्य में भागीदार बनाने से मना कर दिया। आरोप है कि इसके बाद से उन्हें अतिरिक्त तहसीलदार जायसवाल आए दिन परेशान कर रहे हैं। बार-बार अपने घर बुला रहे हैं और रुपए देने के लिए दबाव बना रहे हैं। सतीश सिंह के अनुसार अतिरिक्त तहसीलदार जायसवाल ने अपने मोबाइल नंबर 7987431670 से करीब 10-11 दिन पहले उन्हें कॉल किया। रिसीव करने पर अतिरिक्त तहसीलदार ने कहा कि तुम मेरे अनुसार काम नहीं कर हो। मुझे पैसे नहीं दे रहे हो और न ही मुझे अपने कार्य में हिस्सेदार बना रहे हो। अब देखता हूं, तुम बिलासपुर में कैसे काम करते हो। मैं तुम्हे बर्बाद कर दूंगा। तुम्हे जान से मरवा दूंगा। मेरे विरुद्ध तुम कहीं भी शिकायत कर ,लो मेरा कुछ नहीं होगा। सतीश सिंह का कहना है कि उनके दबाव से वह अपना कार्य नहीं कर पा रहा है। उनके हर कार्य में किसी न किसी प्रकार की अड़चन पैदा की जा रही है, वह मानसिक रूप से परेशान है। इस मामले में पक्ष जानने के लिए अतिरिक्त तहसीलदार जायसवाल को उनके मोबाइल नंबर 7987431670 पर कॉल किया गया, लेकिन रिंग जाने के बाद भी उन्होंने कॉल रिसीव नहीं किया। जब अतिरिक्त तहसीलदार अपना पक्ष रखेंगे, तो उसे भी प्रकाशित किया जाएगा।

आईजी, संभागायुक्त, कलेक्टर और एसपी से शिकायत

सतीश सिंह ने बीते 17 फरवरी को पूरे मामले की लिखित शिकायत आईजी, संभागायुक्त राजस्व, कलेक्टर और एसपी से की है। उन्होंने कहा है कि यदि उनके साथ कुछ भी अप्रिय घटना होती है तो इसकी जिम्मेदारी अतिरिक्त तहसीलदार शेष नारायण जायसवाल की होगी। उन्होंने अतिरिक्त तहसीलदार जायसवाल के खिलाफ कार्रवाई नहीं होने पर कोर्ट की शरण लेने की बात कही है।

झूठे मामले में फंसाने का आरोप

सतीश सिंह ने आरोप लगाते हुए बताया कि उनके खिलाफ अतिरिक्त तहसीलदार जायसवाल ने अवैध प्लाटिंग का झूठा प्रकरण बना दिया है। उन्हें बिलासपुर शहर में रहते हुए 40 साल हो गए हैं। उनका दावा है कि एक भी अवैध प्लाटिंग का मामला साबित हुआ तो वे सजा भुगतने के लिए तैयार हैं।

Related Articles

Back to top button
Close
Close
Open chat