बिलासपुरराजनीति

बिलासपुर: अवैध रूप से प्रदेश में फल फूल रहे नशे के कारोबार को रोकने में सरकार फेल…अमर

बिलासपुर। प्रदेश के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल कभी असम कभी उत्तर प्रदेश में जा-जाकर छत्तीसगढ़ सरकार की बड़ाई करते थकते नहीं छत्तीसगढ़ माडल की बात करते हैं लेकिन सच्चाई कोसो दूर है। उक्त बातें भाजपा के वरिष्ठ नेता पूर्व मंत्री अमर अग्रवाल ने अपने कार्यक्रम अपनों से अपनी बात के तहत फेस बुक लाईव कार्यक्रम के दौरान कही।

अमर अग्रवाल ने प्रदेश की कांग्रेस पर आरोप लगाते हुए कहा कि प्रदेश में लगातार अवैध रूप से नशे का कारोबार तेजी से फल-फूल रहा है, जो चिंता का विषय है, उन्होंने कहा कि प्रदेश में शराब के दामों पर वृद्धि एवं मंहगी होती शराब के चलते गांजा, जैसे सस्ते नशे की ओर प्रदेश के युवा आगे बढ़ रहे हैं। एक समय पंजाब के युवा नशे के आदि हो गये थे पंजाब बदनाम हो रहा था तो भारत में इसके उपर फिल्म बनी थी उड़ता पंजाब, लगता है छत्तीसगढ़ भी उसी दिशा में आगे बढ़ रहा है, उड़ता छत्तीसगढ़ के नाम से कहीं जाना ना जाने लगे। अवैध रूप से प्रदेश में फल फूल रहे नशे के कारोबार को रोकने में सरकार फेल हो चूकी है प्रदेश के मुख्यमंत्री अचानक जागकर वीडियो कॉन्फ्रेंस के द्वारा प्रशासनिक अधिकारियों पुलिस महकमें को नशे के अवैध कारोबार को रोकने का आदेश देते हैं फिर कुछ लोगों को पकड़कर जेल में डलवा दिया जाता है। यह तो रूटिन का काम है पुलिस प्रशासन एवं आबकारी विभाग की जिम्मेदारी है नशे के अवैध कारोबार को रोके तथा इसमें लिप्त लोंगों को गिरप्तार कर कार्यवाही करेें लेकिन सरकार का इस ओर अचानक जागना इसमें भी दाल में काला है।

लगभग 3 वर्ष होने जा रहे हैं प्रदेश के कांग्रेस सरकार को आज तक कोई ठोस कार्यवाही क्यों नहीं की जाती। अग्रवाल ने कहा कि सरकार को चाहिए कि नशा मुक्ति को रोकने के लिए समाजिक संगठनों, समाज सेवी संस्थाओं एवं समाज को जोड़कर इस दिशा में काम करना चाहिए। प्रदेश के कर्मचारियों एवं अधिकारियों की मेहनत से प्रदेश की सरकारें काम करती लेकिन उन कर्मचारियों के साथ भी धोखा दे रही प्रदेश सरकार जबकि केन्द्र सरकार अपने कर्मचारियों को 31 प्रतिशत डी.ए. दे रहीं हैं वहीं प्रदेश की कांग्रेस सरकार 17 प्रतिशत ही डी.ए. दे रही कर्मचारियों को उनके वाजिब हक मिलना चाहिए 14 प्रतिशत कम दे रहीं हैं राज्य सरकार। प्रदेश सरकार को भी केन्द्र सरकार की तरह 31 प्रतिशत डी.ए. कर्मचारियों को प्रदान करें। वहीं प्रदेश के पेंशन धारियों की भी समस्याओं को दूर करने के लिए कारगर कदम उठाना चाहिए।

अग्रवाल ने सिम्स की चरमराती व्यवस्था पर सवाल उठाते हुए कहा कि बिलासपुर संभाग का सबसे बड़ा सरकारी अस्पताल सिम्स है यहां दूर-दूर वानांचल एवं ग्रामीण क्षेत्रों के साथ-साथ शहरों के मरीज इलाज कराने आते हैं लेकिन जिस प्रकार सिम्स मेें अव्यवस्था का आलम है यहां मरीजों का विश्वास उठते जा रहा है। कभी कर्मचारी हड़ताल पर, डाॅक्टरों की कमी, स्टाफ की कमी, टेक्निशियन की कमी दवाईयों का अभाव, ओ.पी.डी. बंद है। सिम्स की लचर व्यवस्था को तत्काल दुरूस्त किया जाना चाहिए, मुख्यमंत्री एवं स्वास्थ्य मंत्री को गंभीरता पूर्वक इस ओर ध्यान देना होगा, सिम्स की अव्यवस्था से लोगों में आक्रोश पनप रहा है जो चिंतनिय है। इस दौरान अग्रवाल ने प्रदेश वासियों को दीपों के महापर्व दीपावली एवं धनतेरस की अग्रिम बधाई एवं शुभकामनाएं दी। इस महापर्व पर लोगों के लिये सुख-शान्ति समृद्धि एवं खुशहाली की कामनां की। इस दौरान महान वैज्ञानिक डाॅ. होमी जहांगीर भाभा, लौह पुरूष सरदार वल्लभभाई पटेल एवं प्रमोद महाजन को याद किया।

Related Articles

Back to top button
Close
Close
Open chat