छत्तीसगढ़वन विभाग

छत्तीसगढ़: बिना अनुमति बांस काटने को लेकर विवाद पर बीट गार्ड ने रेंजर से कहा- खड़े-खड़े वर्दी उतरवा दूंगा…

छत्तीसगढ़ में कोरबा के रिजर्व फॉरेस्ट के अंदर बांस काटने को लेकर रेंजर और बीट गार्ड में जमकर विवाद हो गया। बिना अनुमति बांस कटाई होने से भड़के बीट गार्ड ने रेंजर की जमकर क्लास लगाई। वरिष्ठ अफसरों को फटकार लगाते उस वनकर्मी का वीडियो भी सोशल मीडिया पर खूब वायरल हो रहा है। मामला वनमंडल परिक्षेत्र कटघोरा अंतर्गत हल्दीबाड़ी के आरएफ 790 का है। यहां कुछ श्रमिक बांस कटाई कर रहे थे। रिजर्व फॉरेस्ट में कटाई-सफाई प्रतिबंधित होता है।

यहां परिसर रक्षक के पद पर बीट गार्ड शेखर सिंह रात्रे कार्यरत है। दो दिन पहले बीट गार्ड शेखर विभागीय कार्य से मरवाही गया हुआ था। वो शुक्रवार को लौटा तो देखा कि परिसर में लगे बांसों की कटाई कर दी गई है। इस पर उसने वहां काम कर रहे मजदूरों से पूछताछ की तो उन्होंने कटघोरा के परिसर रक्षक रामकुमार यादव के कहने पर बांस की कटाई करना बताया। इस तरह वे हल्दीबाड़ी में बांस कटाई कर रहे थे।

श्रमिकों से मिली जानकारी के अनुसार परिसर रक्षक शेखर सिंह रात्रे ने जब रामकुमार यादव से बात की तो वे भी मौके पर आ गए। न्होंने बताया कि रेंजर मृत्युंजय शर्मा का आदेश था कि यहां से बांस काटना है और लेकर जाना है। रात्रे ने उनसे आदेश की कॉपी मांगी तो उनका कहना था कि उनके पास ऐसा कोई कागज नहीं है। जिसके बाद बीट गार्ड ने मजदूरों को बांस को काटने से रोका और 11 टंगिया जब्त कर ली।

वहीं इस दौरान रेंजर मृत्युंजय शर्मा भी मौके पर पहुंच गए। बांस की कटाई को लेकर दोनों में बहस होने लगी। रेंजर ने बांस कटाई के संबंध में कोई दस्तावेज होने से इनकार कर दिया। इस दौरान बीट गार्ड ने रेंजर को फटकार लगाते हुए कहा कि यह आरक्षित वन क्षेत्र है। जहां पेड़ काटने की अनुमति नहीं होती है। आपको नियम कानून का पता नहीं है। अपने कंधे पर तीन-तीन स्टार कैसे लगा लिए। कैसे अफसर हो, बात मत करो। ज्यादा करोगे तो वर्दी उतरवा दूंगा।

परिसर रक्षक शेखर सिंह रात्रे ने बताया कि इस सीजन में बांस की कटाई नहीं होती और न ही कूप कटाई होती है। मौके से 11 टंगिया जब्त की गई हैं। धारा 52 के तहत जब्ती करना है, इसलिए मैंने इस धारा के तहत जब्ती की कार्रवाई की है। रात्रे ने जिसके पास से जब्ती पर कार्रवाई की है, उनमें रेंजर मृत्युंजय शर्मा, परिक्षेत्र सहायक दर्री अजय कौशिक, बीट गार्ड रामकुमार समेत 11 मजदूर शामिल हैं।

Related Articles

Back to top button
Close
Close