छत्तीसगढ़रायपुर

छत्तीसगढ़ी: पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी की हालत गंभीर, जानें क्या कहते है डॉक्टर्स…

लॉकडाउन और कोरोना संक्रमण के बीच छत्तीसगढ़ के पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी की हालत फिर एक बार बिगड़ गई है. बुधवार देर रात उन्‍हें फिर कार्डियक अरेस्ट आया. नारायण अस्पताल के डायरेक्टर डॉ सुनील खेमका ने बताया कि इलाज के दौरान अजीत जोगी को एक बार फिर कार्डियक अरेस्ट आया. इससे पहले उनकी हालत स्थिर हो गई थी, लेकिन देर रात उनकी पल्स रेट नीचे गिर गई थी. हालांकि, देर रात तक उनकी स्थिति में थोड़ा सुधार दर्ज किया गया है. हृदय रोग विशेषज्ञ डॉक्टर पंकज उमर सहित डॉक्टरों की टीम आईसीयू में है और जोगी के स्वास्थ्य की लगातार निगरानी कर रहे हैं. बताया जा रहा है कि उनका बीपी ऊपर नीचे हो रहा, जिससे दिक्कत है.

आपकी जानकारी के लिए बता दे कि योगी को 9 मई को कार्डियक अरेस्ट आने के कारण नारायण अस्पताल में भर्ती कराया गया था. उस समय से जोगी कोमा में है. तभी से उनके स्वास्थ्य में उतार-चढ़ाव देखा जा रहा है. मेडिकल की भाषा लैंग्वेज में उनकी स्थिति हिमो डाइनामिकली स्थिर बनी हुई है. उन्हें सीधे ट्यूब के माध्यम से आहार दिया जा रहा था, तो वहीं वेंटिलेटर के माध्यम से सांस दी जा रही है. बीती देर रात अजीत जोगी को एक बार फिर कार्डियक अरेस्ट हुआ.

इसके अलावा 9 मई को सुबह करीब 10 बजे अजीत जोगी तैयार होने के बाद अपने लॉन में व्हीलचेयर के माध्यम से टहल रहे थे. तभी उन्हें कार्डियक अरेस्ट हुआ था. गंभीर स्थिति में राजधानी रायपुर के देवेंद्र नगर स्थित नारायणा अस्पताल में उन्हें भर्ती कराया गया. तब से लेकर आज तक स्थिति गंभीर बनी हुई है. बीते 15 दिनों से वे कोमा में चल रहे हैं. वही, छत्‍तीसगढ़ राज्‍य के पहले मुख्‍यमंत्री बनने का गौरव अजीत जोगी को प्राप्‍त हुआ था. वह देश के एकमात्र ऐसे राजनेता है, जिन्होंने इंजीनियर, प्रोफेसर और आईपीएस के साथ आईएएस बनने का भी लक्ष्य पूरा किया था. इसके बाद लंबे समय तक कलेक्ट्री करने के बाद वह राजनीति में शामिल हुए, तब से लेकर आज तक अजीत जोगी छत्‍तीसगढ़ की राजनीति के केंद्र बिंदु माने जाते हैं.

Related Articles

Back to top button
Close
Close
Open chat