छत्तीसगढ़रायपुर

छत्तीसगढ़ी: हवाई यात्रियों के लिए सरकार के सशुल्क क्वारंटाइन सेंटर में रहना अनिवार्य हो, मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की केंद्र से मांग…

रायपुर: छत्तीसगढ़ के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने केन्द्र सरकार से मांग की है कि हवाई यात्रा करने वाले सभी लोगों के लिए राज्य सरकार द्वारा संचालित और सशुल्क पृथक-वास केन्द्र में रहना अनिवार्य किया जाए। राज्य के वरिष्ठ अधिकारियों ने शनिवार (23 मई) को यहां बताया कि मुख्यमंत्री बघेल ने 25 मई से घरेलू उड़ान प्रारंभ करने के निर्णय के संबंध में नागर विमानन राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार) हरदीप सिंह पुरी को पत्र लिखा है।

बघेल ने लिखा है कि घरेलू उड़ान शुरू करने से संक्रमण फैलने की संभावना से इंकार नहीं किया जा सकता। उन्होंने कहा है कि कोविड-19 महामारी के रोकथाम तथा संक्रमण से बचाव की दृष्टि से नागर विमानन मंत्रालय को प्रभावी उपायों और दिशा-निर्देशों के अंतर्गत ही उड़ानें शुरू करनी चाहिए।

केन्द्रीय मंत्री को लिखे पत्र में बघेल ने कहा है कि विभिन्न प्रिंट, इलेक्ट्रॉनिक और सोशल मीडिया के माध्यम से संज्ञान में आया है कि 25 मई से घरेलू उड़ान प्रारंभ करने का निर्णय लिया गया है और नागर विमानन मंत्रालय द्वारा यात्रियों के आवागमन के लिए अलग से कोई एसओपी (मानक संचालन प्रक्रिया) भी जारी नहीं की गई है।

बघेल ने अनुरोध किया है कि राज्यों को प्रत्येक उड़ान की जानकारी उपलब्ध करायी जाए, जिसमें उस राज्य में आने वाले यात्रियों का विस्तृत विवरण सम्मिलित हो। हवाई यात्रा करने वाले सभी यात्रियों की 14 दिन पृथक-वास (केवल राज्य सरकार द्वारा संचालित और सशुल्क पृथक-वास) में रहना अनिवार्य किया जाए। पृथक-वास संबंधी शर्त और अनिवार्यता की जानकारी यात्रियों को टिकट बुक करने के समय ही दी जाए ताकि वे नियमों से भलीभांति परिचित रहें।

अधिकारियों ने बताया कि मुख्यमंत्री ने पत्र में उम्मीद जताई है कि इन सुझावों पर गंभीरता से विचार करते हुए सख्त और प्रभावी गाईडलाईन के साथ घरेलू उड़ान संचालन की कार्यवाही प्रारंभ की जाएगी।

Related Articles

Back to top button
Close
Close