छत्तीसगढ़बिलासपुरशिक्षा

विरोध प्रदर्शन: निजी स्कूलों द्वारा बच्चों की फीस जबरिया वसूलें जाने के विरोध में पालक संघ का आज से अभियान प्रारंभ…

बिलासपुर। प्रदेश में निजी स्कूलों द्वारा बच्चों की फीस जबरिया वसूलें जाने के विरोध में पालक संघ ने आज से  अभियान प्रारंभ किया है। इस विरोध को प्रदेश सरकार के संसदीय सचिव विकास उपाध्याय ने समर्थन दिया है। उन्होंने संगठन के दिनेश शर्मा को प्रेषित कर पोस्टकार्ड में अपनी फोटो चस्पा कर समर्थन लिखा है।

संगठन के पदाधिकारी दिनेश शर्मा ने बताया है कि निजी स्कूल एसोसिएशन द्वारा फीस जमा नहीं किए जाने पर 8 तारीख से बच्चों को शिक्षा से वंचित करने का फैसले लिया गया है। इसके विरोध में पूरे प्रदेश स्तरीय अभियान प्रारंभ कर दिया गया है। उन्होंने बताया कि अब छत्तीसगढ़ प्रदेश के संसदीय सचिव विकास उपाध्याय भी इसके सीधे समर्थन में आ गए हैं। गृह एकांतवास  होने के कारण, अभिभावकों व स्टूडेंट्स के समर्थन में पोस्टकार्ड प्रेषित किया है। विकास उपाध्याय ने कहा है कि, मैं छात्र जीवन से ही स्टूडेंट्स व अभिभावकों हेतु संघर्ष किया हूँ और अब हमारी कांग्रेस के सरकार में, स्टूडेंट्स के उपर अत्याचार या बच्चों को शिक्षा से वंचित करने वाले किसी भी स्कूल के उपर एफआईआर दर्ज होगी, व सरकार कड़ी कार्रवाई करेगी।

दिनेश शर्मा ने बताया कि 5 तारीख से विरोध प्रदर्शन में छत्तीसगढ़ के अभिभावकों के साथ साथ, छत्तीसगढ़ के गणमान्य व्यक्ति, समाजसेवी, जनप्रतिनिधियों ने भी खुलकर समर्थन देने हेतु हमें फोटो चिपकाओं अभियान हेतु फोटो भेज रहे हैं। इस विरोध प्रदर्शन में रायपुर दक्षिण विधानसभा के पूर्व प्रत्याशी कन्हैया अग्रवाल खुलकर समर्थन करते हुए, मुख्यमंत्री को ज्ञापन देने हेतु स्वयं उपस्थित रहेंगे।

इस विरोध प्रदर्शन का छत्तीसगढ़ के विभिन्न जिलों से अभिभावकों व पालकों के हितों में काम करने वाले पालक संघों ने भी खुलकर समर्थन किया है। उन्होंने स्वयं आगे आकर अपने-अपने जिलों में नेतृत्व का जिम्मा सम्भाला हैं। जिसमें बलौदाबाजार- भाटापारा जिला से सोनू पटाक (अध्यक्ष, पालक संघ), सुनील शर्मा, अमित शर्मा, बिलासपुर जिला से पवन ताम्रकार, नैना पांडे, बेमेतरा जिला से अर्चना शर्मा, गोपाल शर्मा, जगदलपुर जिला से बिजुली वैद्य, अर्चना मंडल, सीमा वर्मा रायपुर जिला से नम्रता वर्मा, संतोष पांडे, सरिता आहूजा मुख्य रूप से विरोध प्रदर्शन का मोर्चा सम्हालेगे।

चरणबद्ध तरीके से किए जाने वाला यह विरोध प्रदर्शन 10 सितम्बर तक जारी रहेगा। 7 सितंबर को मुख्यमंत्री को ज्ञापन सौंपा जाएगा। अभियान के दौरान पोस्टकार्ड मेंI सपोर्ट पेरेंट्स एंड स्टूडेंट्स लिखकर, फोटो चिपकाकर, हस्ताक्षर करके, मंत्री को भेजने, ज्यादा से ज्यादा सोशल  मिडिया के जरिए को पोस्टकार्ड टैग करने और ई मेल करते हुए, निजी स्कूल एसोसिएशन के तुगलकी फरमान का विरोध प्रदर्शन करने की अपील की गई है।

Related Articles

Back to top button
Close
Close
Open chat