Mon. Jan 27th, 2020

बड़ी ख़बर: साप्ताहिक दिल्ली-भागलपुर एक्सप्रेस ट्रेन को रास्ते में रोक कर हथियारबंद अपराधियों किया लूट, 25 लाख रुपये नगद और जेवरात… 

बिहार-भागलपुर साप्ताहिक एक्सप्रेस में दैता बांध के पास बुधवार की देर रात अपराधियों ने धावा बोल कर यात्रियों से 25 लाख रुपये, जेवरात और मोबाइल फोन लूट लिये. अपराधियों ने आनंद विहार से भागलपुर आ रही साप्ताहिक एक्सप्रेस में लूटपाट की घटना जमालपुर-किउल रेलखंड के उरैन-धनौरी के बीच की. घटना को दो दर्जन से अधिक हथियारबंद अपराधियों ने अंजाम दिया है. अपराधियों के डर से ट्रेन का ड्राइवर ट्रेन से उतर कर कहीं छिप गया. अपराधियों ने लूटपाट के दौरान यात्रियों से मारपीट भी की. तीन दर्जन से अधिक यात्रियों से लूटपाट की गयी. डेढ़ घंटे तक ट्रेन घटनास्थल पर ही खड़ी रही.

घटना की सूचना मिलने पर पुलिस अधिकारी पहुंचे और ट्रेन को रवाना कराया गया. इस बीच, कजरा में भी कुछ देर के लिए वैक्युम कर गाड़ी रोकी गयी. इधर, जमालपुर स्टेशन पर घटना की सूचना मिलते ही यात्रियों और उनके परिजनों की भीड़ उमड़ पड़ी. लोग जीआरपी थाने के पास हंगामा करने लगे. यात्रियों के मुताबिक अपराधी सफेद रंग के चार चक्के वाहन से घटनास्थल पहुंचे थे. बांध से आधा किमी की दूरी पर गाड़ी लगा कर अपराधियों ने घटना को अंजाम दिया. घटना के बाद इसी वाहन से वे लोग फरार हो गये.

जानकारी के अनुसार, रेलवे सुरक्षा के दावे को धता बताते हुए बुलंद हौसले के साथ अपराधियों ने बुधवार की शाम मालदा रेल मंडल के जमालपुर-किउल रेलखंड पर 12350 डाउन नयी दिल्ली-भागलपुर एक्सप्रेस की दो स्लीपर बोगियों में डाका डाला. अपराधियों ने इस ट्रेन को रेलखंड के धनौरी और उरैन रेलवे स्टेशनों के बीच दैता बांध के निकट किलोमीटर संख्या 397/00 के निकट रात्रि 9:25 बजे रोककर घटना को अंजाम दिया. इस कारण रेल यात्रियों में दहशत फैल गयी. घटनास्थल पर ही ट्रेन डेढ़ घंटे तक रुकी रही और सुरक्षा एजेंसी घटनास्थल तक पहुंचने में नाकाम रहे. ट्रेन पर यात्रा कर रहे यात्रियों की सूचना पर यहां जमालपुर रेलवे स्टेशन पर परिजनों की भीड़ एकत्रित हो गयी और परिजनों ने जमकर हंगामा भी किया.

परिजनों का कहना था कि इतनी देर से ट्रेन रुकी हुई है और सुरक्षा एजेंसी घटनास्थल पर क्यों नहीं पहुंची?

दूसरी ओर ट्रेन से यात्रा कर रहे कुछ यात्रियों ने बताया कि स्लीपर बोगी संख्या 6 और 7 में अपराधियों ने लगभग आधा दर्जन रेल यात्रियों को घायल कर दिया है. घटना की सूचना पाकर रेल एसपी आमिर जावेद थानाध्यक्ष इंस्पेक्टर कामेश्वर सिंह और रेलवे सुरक्षा बल के सहायक सुरक्षा आयुक्त ईश्वर प्रसाद यादव इंस्पेक्टर सुजीत कुमार यादव तथा फिरोज अख्तर, प्रभारी एसपी लखीसराय मनीष कुमार, एएसपी अभियान पवन कुमार, रेल डीएसपी किऊल, सूर्यगढ़ा थानाध्यक्ष आदि घटनास्थल पर पहुंचे।

चार बोगियों में की लूटपाट

लूटपाट की खबर सुनते ही जमालपुर स्टेशन पर यात्रि यों के परिजनों की भीड़ जुटने लगी. लोग जल्द से अपने परिजनों को सकुशल देखना चाहते थे. ट्रेन के देर रात स्टेशन पहुंचते ही कोलाहल मच गया. लोग अपने-अपने परिजनों को ढूंढ़ कर उनका कुशल क्षेम पूछने लगे. यात्रियों ने बताया कि दैता बांध के पास हथि यार के साथ अपराधी बोगी में आये थे. उन लोगों ने चार बोगियों में यात्रियों के साथ लूटपाट की. विरोध करनेवालों को खूब मारा भी. इस वजह से लोगों में दहशत बना रहा.

दहशत में थीं महिलाएं, रो रहे थे बच्चे

घटनास्थल से खुलने के बाद नयी दिल्ली-भागलपुर सुपरफास्ट साप्ताहि क ट्रेन (ट्रेन नंबर 12350 ) रात 11 बजकर 48 मिनट पर जमालपुर पहुंची. उतरते ही यात्रियों ने हंगामा शुरू कर दिया. यात्रियों ने पुलिस से नाराजगी जतायी. काफी देर तक पुलिस के नहीं पहुंचने की वजह से यात्रियों और महिलाओं में दहशत था. बच्चे रो रहे थे. रोष में यात्रियों ने रेलवे और पुलिस से नाराजगी जतायी. यात्रियों ने बताया कि ट्रेन सवा नौ बजे किऊल से खुली. उरैन और धनौरी रेलवे स्टेशन के बीच किलोमीटर संख्या 396/5 के पास ट्रेन को वैक्युम कर रोक दिया गया. दर्जनों हथियारबंद अपराधियों ने चार बोगियों (ए-1, बी-2, एस-10, एस-11) के अंदर घुस कर यात्रियों से लूटपाट की. इसी बीच, ट्रेन वहां डेढ़ घंटे तक रुकी रही. यात्रियों में दहशत बना रहा. अधिकतर लोगों के जेवरात मोबाइल और नकदी छीने. लगभग दो दर्जन यात्रियों से लूटपाट हुई. घटना के बाद से महिला और बच्चे दहशत में हैं.

ड्राइवर को भी अपराधियों ने पीट कर लूटा

ड्राइवर पीएन मिश्रा और असिस्टेंट ड्राइवर एसके सिंह भी दहशत में थे. एसके सिंह ने कहा कि बार-बार ट्रेन को वैक्युम किया जा रहा था. हम लोग वहां देखने गये, तो हमारे साथ भी छिनतई की गयी. मोबाइल और पैसा छीन लिया गया. साथ ही मारपीट भी की गयी.

You may have missed

error: Content is protected !!