क्राइम

भय्यू महाराज के ड्राइवर ने उगले आत्महत्या से जुड़े कई राज़, नाजायज़ संबंधों की तरफ मुड़ी काहनी

पांच करोड़ रुपये की फिरौती मांगने के आरोप में गिरफ्तार किए गए ड्राइवर ने भय्यू महाराज आत्महत्या केस की जांच में नया खुलासा किया है. पूछताछ में उसने बताया कि आश्रम से जुड़ी एक युवती महाराज से 40 करोड़ रुपये नकद, मुंबई में चार बीएचके का फ्लैट, 40 लाख रुपये की कार और खुद के लिए मुंबई के बड़े कॉपोरेट हाउस में नौकरी मांग रही थी. षड्यंत्र में पर्दे के पीछे महाराज के दो खास सेवादारों के नाम भी शामिल थे. ड्राइवर ने ये भी बताया कि महाराज के लगभग एक दर्जन महिलाओं से सम्बन्ध थे.

ड्राइवर ने बताया कि युवती अपने पास वीडियो और ऑडियो होने की बात कहकर महाराज को ब्लैकमेल करती थी, ऐसे में परेशान होकर उन्होंने आत्महत्या कर ली. उल्लेखनीय है कि 50 वर्षीय भय्यू महाराज (उदयसिंह देशमुख) ने इसी वर्ष 12 जून को खुद को गोली मारकर अपनी जीवन लीला समाप्त कर ली थी. पुलिस इसे सामान्य आत्महत्या का मामला समझकर जांच कर रही थी, लेकिन इसी बीच इंदौर के एमआइजी थाना पुलिस ने महाराज के करीबी ड्राइवर कैलाश पाटिल उर्फ भाऊ को वकील राजा उर्फ निवेश बड़जात्या से पांच करोड़ रुपये की फिरौती मांगने के आरोप में पकड़ लिया.

पूछताछ में कैलाश ने पुलिस और महाराज के सूर्योदय आश्रम से जुड़े कुछ सेवादारों के बारे में सारे राज़ उगल दिया. उसने कहा कि महाराज युवती के धमकाने के कारण तनाव में रहने लगे थे. ड्राइवर ने बताया कि आश्रम से जुड़ी एक युवती ने चुपके से कुछ आपत्तिजनक वीडियो बना लिए थे, सुबूत के तौर पर महाराज के कुछ अंतःवस्त्र भी अपने पास रख लिए थे, कुछ समय बाद युवती ने महाराज को धमकाना करना शुरू कर दिया था.  महाराज ने ऑनलाइन और चेक के माध्यम से महीनों तक उसे लाखों सुपे पहुंचाए, लेकिन अचानक युवती करोड़ों रुपये नकद, फ्लैट और नौकरी मांगने लगी, ड्राइवर कैलाश का दावा है कि इस साजिश के पीछे सेवादार विनायक दुधाले और शेखर भी शामिल थे और  आत्महत्या के पहले महाराज से युवती ने बात की थी. पुलिस फ़िलहाल ड्राइवर के बयान अनुसार महिला की तलाश में जुट गई है.

Related Articles

Back to top button
Close
Close
Open chat