क्राइमबिलासपुर

बिलासपुर: कार पार्किंग के विवाद पर पति-पत्नी की पिटाई…पति की हालत अब भी नाजुक…सिविल लाइन पुलिस पर पक्षपात का लगा आरोप…

बिलासपुर। कार पार्किंग के मामूली विवाद पर पड़ोसी ने घर घुसकर पति-पत्नी पर ताबड़तोड़ हमला कर दिया। कार में तोड़फोड़ भी की। पीड़ित ने सिविल लाइन पुलिस पर करने गंभीर आरोप लगाया है।

इस संबंध में मिली जानकारी के अनुसार तालापारा निवासी सैय्यद राशीद अली पिता आसिफ अली बीते 1 मार्च की दोपहर घर के बाहर अपनी कार खड़ी कर अंदर गए थे, जिसके बाद राशीद अली के पड़ोसी सज्जू अपने दोनों पुत्र सिपतैन व रज़ा के साथ घर के बाहर खड़ी कार में तोड़फोड़ करने लगे। राशीद के विरोध करने पर गुस्से में बौखलाए पड़ोसियों ने गंदी-गंदी गालियां देते हुए पाइप, डण्डे और लात-घूसों से मारपीट शुरू कर दी। जिस पर प्रार्थी जान बचाने अपने घर में घुसा, लेकिन आरोपियों ने उसे मारते-मारते उसके घर में घुस गए और वहां भी मारने लगे, जिसे देख प्रार्थी की पत्नी अपने पति को बचाने को दौड़ी तो आरोपियों ने पत्नी से भी बदसलूकी की। हमले में राशीद अली को सिर पर गंभीर चोटें आई हैं, जिसके बाद खुद पर हुए प्राणघतक हमले की जानकारी देने पति-पत्नी सिविल लाइन थाने पहुंचे, जहां से उन्हें प्रथम उपचार के लिए जिला असपताल में भर्ती किया गया है, जहां राशीद का अभी भी इलाज जारी है। सिविल लाइन पुलिस ने हमला करने वाले पड़ोसी सज्जू, सिपतैन और रज़ा पर धारा 452, 294, 506, 323, 427 और 34 के तहत अपराध पंजीबद्ध किया है।

प्रार्थी ने पुलिस पर लगाया गंभीर आरोप

मामले में जब राशिद अली से बातचीत की गई  तो उन्होने बताया कि आरोपियों के  हमारे अलावा अन्य पड़ोसियों के साथ भी व्यवहार अच्छा नहीं हैं और वे कुछ कांग्रेसी नेताओं के दम पर अपना रसूख दिखाते हैं जब हम हमले की जानकारी देने सिविल लाईन थाने पहुंचे, तो वहां मैंने जो बयान दिया था, वह न लिखकर पुलिस ने अपने हिसाब से उनका बयान दर्ज किया और मामले में आरोपियों पर जो गंभीर धाराएं लगनी थीं वे नहीं लगायी गपी और  जमानतीय धाराएं ही लगाई गईँ जिससे आरोपियों के हौसले बुलंद हैं। देखना दिलचस्प होगा कि उक्त अप्रिय घटना के वायरल होने के बाद पुलिस अफसर और गृहमंत्री क्या कार्यवाही करते हैं ?

Related Articles

Back to top button
Close
Close
Open chat