Fri. Jan 24th, 2020

बिलासपुर: मरवाही सदन में खुदकशी मामले को लेकर मचा बवाल…ग्रामीणों ने मृतक संतोष कौशिक के परिवार को मुआवजा और निश्पक्ष जांच की मांग को लेकर किया चक्का जाम…

बिलासपुर। शहर में आईजी आफिस के सामने स्थित पूर्व मुख्यंमंत्री अजीत जोगी के निवास ‘मरवाही सदन’ में बुधवार को उनके घरु कर्मचारी द्वारा की गई खुदकशी का मामला अब तूल पकड़ने लगा है। संतोष कौशिक नामक यह कर्मचारी बिलासपुर रतनपुर मार्ग पर सेंदरी के पास स्थित रमतला गांव का रहने वाला था। उसकी संदिग्ध मौत से नाराज ग्रामीणों ने आज सुबह 8 बजे से बिलासपुर कोरबा मार्ग पर सेंदरी में चक्काजाम कर दिया है। मृतक संतोष कौशिक जोगी के मरवाही सदन में बीते चार साल से काम करता था। कल बुधवार को दोपहर बाद किसी समय उसने मरवाही सदन में फांसी से लटक कर आत्महत्या कर ली। वैसे तो आत्म हत्या के ईद प्रकरण में अभी पुलिस के अनुसार खुदकशी करने की वजह अज्ञात बताई जा रही है। लेकिन मृतक के एक रिश्तेदार का कहना है कि उसके पास दोपहर को ही मृतक सतीश का फोन आया था । जिसमे वो कह रहा था कि उस पर चोरी का इल्जाम लगाया जा रहा है। पुलिस इस मामले की जांच कर रही है। उधर सेंदरी में कोरबा रोड़ पर चक्का जाम करने वाले लोगो के बारे में सेंदरी के किसान नेता कमलेश सिंह ठाकुर ने बताया कि चक्का जाम करने वाले ग्रामीण, जोगी निवास मरवाही सदन में कथित रूप से फांसी लगाने वाले मृतक संतोष कौशिक कि संदिग्ध मौत की निष्पक्ष जांच करने और मृतक के परिजनों को मुआवजा देने की मांग कर रहे हैं।

You may have missed

error: Content is protected !!