स्वास्थ्य

मास्क लगाने से कोरोना वाइरस संक्रमण की दर में 56 प्रतिशत तक लाई जा सकती है गिरावट…वैक्सीन भी कारगर नहीं…ICMR

नई दिल्ली। नीति आयोग के सदस्य डॉ. वी के पॉल ने मंगलवार को प्रेसवार्ता में कहा कि कोरोना के बढ़ते मामले को देखते हुए अब लोगों को अधिक सावधान होने की आवश्यकता है। लोगों को अब मास्क आवश्यक रूप से पहनना चाहिए। उन्होंने कहा कि इन दिनों कुछ लोग मास्क नहीं पहन रहे इसकी वजह से संक्रमण का प्रसार हो रहा है। उन्होंने कहा कि मास्क पहनने से 36 से 56 प्रतिशत तक संक्रमण को रोका जा सकता है। इसके साथ लोगो को दो गज की दूरी और हैंड हाईजीन का भी खास ख्याल रखा जाना चाहिए। डॉ. वीके पॉल ने कहा कि आने वाले समय में त्योहार आने वाले हैं लिहाजा लोगों को बड़े समारोह से बचना चाहिए। सर्दियों में सांस संबंधी बीमारियां होने की काफी संभावना रहती है, ऐसे में लोगों को इस मौसम में अधिक सावधानी बरतनी चाहिए।

वैक्सीन भी 100 फीसदी कारगर नहीं: आईसीएमआर

आईसीएमआर के महानिदेशक बलराम भार्गव ने बताया कि सांस से संबधित बीमारियों के लिए कोई भी वैक्सीन 100 प्रतिशत तक कारगर नहीं है। उन्होंने कहा कि विश्व स्वास्थ्य संगठन के मुताबिक वैक्सीन 50 प्रतिशत से लेकर 80 प्रतिशत तक ही सुरक्षा देती है।

संक्रमण की दर को रोकने के लिए ज्यादा से ज्यादा हो टेस्ट: राजेश भूषण

मंगलवार को प्रेस वार्ता में केन्द्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के सचिव राजेश भूषण ने कहा कि पिछले चार हफ्तों से रिकवर होने वाले लोगों की संख्या नए एक्टिव मामलों से अधिक है। लेकिन अभी भी कई राज्यों में नए मामले बढ़ने की रफ्तार ज्यादा है। तमिलनाडु और आंध्रप्रदेश में नए मामले आने की संख्या कम हुई है लेकिन महाऱाष्ट्र व अन्य राज्यों में मामले ज्यादा आ रहे हैं। इसलिए सभी राज्यों को ज्यादा से ज्यादा टेस्ट करने पर जोर देना चाहिए ताकि संक्रमण का पता चल सकें और उसका इलाज समय पर संभव हो पाए।

Related Articles

Back to top button
Close
Close