स्वास्थ्य

विश्व स्वास्थ संगठन प्रमुख बोले- कोरोना कोई आखिरी महामारी नहीं है जो सारा पैसा इस पर उड़ा दिया जा रहा…

दुनियाभर में कोरोना का उत्पात जारी है। अभी तक लोग सटीक तरह से काम करने वाली वैक्सीन का इंतजार कर रहे हैं। इस बीच विश्व स्वास्थ संगठन (डब्लूएचओ) के प्रमुख ने कहा कि कोरोना वायरस संकट अंतिम महामारी नहीं होगी, और मानव स्वास्थ्य में सुधार के प्रयास, जलवायु परिवर्तन और पशु कल्याण से निपटने की कोशिश के बिना बेकार हैं।

Tedros Adhanom Ghebreyesus ने आगे के बारे में सोचे बिना इन महामारी पर अथाह पैसा खर्च कर देने की भी निंदा की। रविवार को महामारी की तैयारी के पहले अंतर्राष्ट्रीय दिवस को चिह्नित करते हुए उन्होंने एक वीडियो मेसेज जारी किया। डब्ल्यूएचओ के महानिदेशक ने कहा कि यह कोविड -19 महामारी से सबक सीखने का समय था। उन्होंने कहा- बहुत लंबे समय के लिए, दुनिया ने महामारी के आतंक के एक चक्र पर काम किया है।

“हम एक महामारी पर पैसा खर्च कर देते हैं, और जब यह खत्म हो जाता है, तो हम इसके बारे में भूल जाते हैं और अगले को रोकने के लिए कुछ भी नहीं करते। यह खतरनाक रूप से अदूरदर्शी और समझने में मुश्किल है। ” वैश्विक तैयारी निगरानी बोर्ड की सितंबर 2019 में स्वास्थ्य आपात स्थिति के लिए दुनिया की तत्परता पर पहली वार्षिक रिपोर्ट – नोवेल कोरोना वायरस की शुरुआत से कुछ महीने पहले प्रकाशित हुई। इसमें कहा गया कि दुनिया इस विनाशकारी महामारी के लिए तैयार नहीं थी।

टेड्रोस ने कहा- इतिहास बताता है कि यह कोई आखिरी महामारी नहीं होगी, और महामारी जीवन का एक सच है। उन्होंने कहा महामारी ने मनुष्यों, जानवरों और ग्रह के स्वास्थ्य के बीच अंतरंग संबंधों को उजागर किया है। एएफपी द्वारा संकलित आधिकारिक सूत्रों के अनुसार, पिछले दिसंबर में चीन में फैलने के बाद से नोवल कोरोना वायरस से कम से कम 1.75 मिलियन लोग मारे गए हैं और लगभग 80 मिलियन मामले सामने आए हैं।

उन्होंने कहा कि पिछले 12 महीनों में, हमारी दुनिया उलटी हो गई है। महामारी के प्रभाव समाजों और अर्थव्यवस्थाओं के लिए दूरगामी परिणामों के साथ ही बीमारी से भी आगे निकल जाते हैं।

हाल ही में विश्व स्वास्थ्य संगठन के एक अधिकारी क्टर मारगारेट हैरिस ने कहा था कि केवल टीके से कोरोना के प्रसार को नहीं रोका जा सकता है। उन्होंने कहा कि सिर्फ सार्वजनिक स्वास्थ्य उपाय से ही इसको रोका जा सकता है। टीके कोरोना को रोकने में मददगार हो सकता है। इससे रोग प्रतिरोधक क्षमता में वृद्धि हो सकती है।

विश्व स्वास्थ्य संगठन ने अपने संदेश में लोगों से छुट्टियों के दौरान विशेष सावधानी बरतने और गले मिलने से परहेज करने के लिए कहा है। कोरोना वायरस के प्रसार को रोकने के लिए विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के आपात मामलों के प्रमुख डॉ. माइकल रेयान ने कहा कि खासकर अमेरिका में कोविड-19 के मामलों और संक्रमण से होने वाली मौत के आंकड़े चौंकाने वाले हैं। इसका यही मतलब है कि लोगों को इस साल अपने प्रियजनों के ज्यादा करीब आने से बचना चाहिए।

Related Articles

Back to top button
Close
Close
Open chat