देश

केंद्र सरकार की चेतावनी, मुफ्त कोरोना जांच के नाम पर हमला कर सकते हैं साइबर हैकर…

केंद्र सरकार ने चेतावनी दी है कि साइबर हैकर मुफ्त कोरोना जांच जैसे लालच देकर नागरिकों और कारोबारी कंपनियों की निजी जानकारी में सेंध लगा सकते हैं। सरकार ने कहा कि साइबर हैकर कोविड-19 की आड़ में ऐसे हमलों की फिराक में हैं। भारतीय साइबर सुरक्षा की नोडल एजेंसी सर्ट-इन ने शनिवार को यह चेतावनी जारी की।

इसमें कहा गया है कि खुद को सरकारी एजेंसियों, विभागों या व्यापारिक संस्थान बताने वाले फिशिंग मेल के जरिये प्रतिष्ठानों को निशाना बनाया जा सकता है। 21 जून से ऐसे हमले हो सकते हैं और इनकी आईडी ncov2019@gov.in आदि हो सकती है। सरकार की ओर से वित्तीय सहायता देने के नाम पर ऐसे मेल हमलावरों की ओर से भेजे जा सकते हैं।

ऐसे मेल या लिंक पर क्लिक करने से यूजर को किसी फर्जी वेबसाइट पर ले जाया जाता है, जहां निजी या बैंक अकाउंट जैसी जानकारी देने पर उन्हें नुकसान झेलना पड़ सकता है। इसमें दिल्ली, मुंबई, हैदराबाद, चेन्नई जैसे शहरों में मुफ्त कोरोना जांच के नाम पर लोगों को ठगा जा सकता है। ऐसे साइबर हैकरों ने 20 लाख ईमेल आईडी उनके पास होने का दावा किया है।

देश में कोरोना के कुल मामले चार लाख पार
दूसरी ओर, देश में कोविड-19 महामारी से संक्रमित कुल मामलों की संख्या शनिवार रात को चार लाख का आंकड़ा पार कर गई। दुनियाभर में कोरोना के आंकड़ों पर निगरानी रखने वाली वर्ल्डोमीटर की वेबसाइट के अनुसार, भारत में शनिवार रात साढ़े 11 बजे तक कुल मामलों की संख्या 4,07,689 हो गई है। वहीं, मरने वालों की संख्या भी बढ़कर 13,269 पर पहुंच चुकी है।

वर्ल्डोमीटर के आंकड़ों के अनुसार, शनिवार रात साढ़े 11 बजे तक देश में 11,877 नए मामले सामने आए और 299 लोगों की मौत दर्ज की गई। हालांकि, देश में कुल स्वस्थ होने वाले लोगों की संख्या भी बढ़ रही है। शनिवार रात साढ़े 11 बजे तक 2,20,349 लोगों को अस्पतालों से डिस्चार्ज किया जा चुका था। वहीं, कोरोना के सक्रिय मामलों की बात करें तो देश में 1,74,071 मरीज हैं, जिनमें करीब 8,944 मरीज गंभीर अथवा क्रिटिकल श्रेणी के हैं।

Related Articles

Back to top button
Close
Close
Open chat