दुनियादेश

कोरोना वायरस: अब डॉक्टरों इस समस्या का करना पड़ रहा है सामना, कोरोना से बचाने वाले मास्क को निकालने का समय नहीं…

चीन के वुहान शहर से शुरू हुआ कोरोना वायरस का संक्रमण पूरी दुनिया में अपना कहर बरसा रहा हैं। भारत में इसका आकड़ा एक लाख के पर हो गया हैं। वायरस के फैलाव को रोकने के लिए सरकार शख्त कदम उठा रही है। डॉक्टर्स के लिए स्थिति को संभालना बहुत मुश्किल हो रहा है क्योंकि वे चाहे जितने मरीजों का इलाज करें, वे घटने की बजाय बढ़ते जा रहे हैं।

कोरोना वायरस से खुद को बचाने के लिए डॉक्टर्स ने भारी मास्क और ड्रेस पहनी हुई हैं। कोरोना वायरस से तबाही के दौर में उससे जुड़ी कई तस्वीरें, कहानियां और वीडियोज सोशल मीडिया में तैर रहे हैं। इनमें से कुछ तस्वीरें दिखाती हैं कि मेडिकल टीमें कोरोना वायरस से लोगों को बचाने में कैसे संघर्ष कर रही हैं।

जानकारी के अनुसार डॉक्टर्स ने इतने समय से मास्क चेहरे पर बांध रखा है कि उसके निशान पड़ गए हैं। चीन की मीडिया के मुताबिक वुहान और हुबेई के अस्पतालों में डॉक्टर लगातार इलाज में जुटे हैं। उनमें से कई ऐसे हैं जो हफ्तों से घर नहीं गए। सोने का समय नहीं मिलता, अगली शिफ्ट शुरू होने से पहले वे कुर्सी पर या फर्श पर लेटकर थोड़ी सी नींद ले पाते हैं। हालात इतने खराब हैं कि उन्हें खाने या टॉयलेट जाने तक का टाइम नहीं मिल पाता।

डॉक्टर्स के लिए स्थिति को संभालना बहुत मुश्किल हो रहा है क्योंकि वे चाहे जितने मरीजों का इलाज करें, वे घटने की बजाय बढ़ते जा रहे हैं। कोरोना वायरस से खुद को बचाने के लिए डॉक्टर्स ने भारी मास्क और ड्रेस पहनी हुई हैं। जिनको बीच में निकालने की छूट किसी को नहीं है। इन मास्क की वजह से न सिर्फ निशान पड़े हैं बल्कि जख्म भी हो गए हैं।

आपको बता दें की लाख कोशिश के बाद भी काबू नहीं हो रहा हैं। विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार अब तक कोरोना वायरस संक्रमण के करीब 50 लाख 90 हजार से अधिक मामले सामने आ चुके है। और इसके चपेट में आने से 3 लाख 29 हजार से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है। और 20 लाख 24 हजार से अधिक लोग ठीक हो चुके हैं।

Related Articles

Back to top button
Close
Close
Open chat