देश

देश: अधिक छूट के साथ लॉकडाउन-4 का ऐलान ! आज रात 8 बजे क्या होगा प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के संबोधन का मुद्दा?…

आज रात 8 बजे पीएम नरेंद्र मोदी एक बार फिर से देश को संबोधित करेंगे। देश में कोरोना महामारी के संक्रमण को फैलने से रोकने के लिए जारी लॉकडाउन 3.0 के बीच पीएम कोई बड़ी घोषणा कर सकते हैं। पीएम ने कल देश के सभी राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ मैराथन बैठक की थी। इस बैठक महाराष्ट्र, पंजाब, तेलंगाना, पश्चिम बंगाल और बिहार के मुख्यमंत्रियों ने लॉकडाउन बढ़ाने की अपील की थी।

लॉकडाउन के चौथे चरण का ऐलान-

सूत्रों के अनुसार पीएम नरेंद्र मोदी की ओर से आज लॉकडाउन के चौथे चरण का ऐलान किया जा सकता है। इस चरण लोगों में ज्यादा छूट जाएगी। साथ ही पीएम मोदी, मजदूरों के पलायन और लॉकडाउन एग्जिट प्लान के मुद्दे पर भी चर्चा कर सकते हैं। इसके अलावा लोगों से सोशल डिस्टेंसिंग बनाने की अपील भी की जाएगी।

मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक-

इससे पहले प्रधानमंत्री मोदी ने सोमवार को राज्य के मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक की थी। ऐसा माना जा रहा है कि इस बार प्रधानमंत्री मोदी लॉकडाउन के संबंध में वे कोई बड़ी घोषणा कर सकते हैं। फिलहाल देश में कोरोना लॉकडाउन का ये तीसरा चरण है और इसकी समयसीमा 17 मई को खत्म हो रही है।

गौरतलब है कि इससे पहले पीएम मोदी ने लॉकडाउन के पहले चरण के 21 दिन के खत्म होने से पहले 14 अप्रैल को देश को संबोधित किया था और फिर दो हफ्ते लॉकडाउन बढ़ाने की घोषणा की थी। बाद में इसे और दो हफ्ते के लिए बढ़ाया गया। हालांकि, इस बार लॉकडाउन में रियायत संभव है। पीएम मोदी ने इसके संकेत भी सोमवार को राज्यों के मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक में दिया था।

पीएम मोदी ने सोमवार को मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक में कहा कि उनका दृढ़ मत है कि लॉकडाउन के पहले तीन चरणों में जिन उपायों की जरूरत थी, वे चौथे में जरूरी नहीं हैं। उन्होंने मुख्यमंत्रियों से 15 मई तक व्यापक रणनीति के लिए सुझाव देने को कहा कि वे अपने-अपने राज्यों में लॉकडाउन की व्यवस्था से कैसे निपटना चाहते हैं।

पीएम मोदी ने कहा कि और आर्थिक राहत देने पर विचार किया जा रहा है। सूत्रों का कहना है कि केंद्र की तरफ से राज्यों को लॉकडाउन पर खुद निर्णय लेने का अधिकार दिया जा सकता है। पीएम नरेंद्र मोदी की मुख्यमंत्रियों के साथ बैठक खत्म हो गई है। बैठक में बिहार, पंजाब, महाराष्ट्र और तेलंगाना समेत 6 राज्यों ने लॉकडाउन की अवधि को बढ़ाने का समर्थन किया। बैठक में अधिकतर मुख्यमंत्रियों का कहना था कि लॉकडाउन के अचानक से खत्म नहीं किया जाना चाहिए।

Related Articles

Back to top button
Close
Close