देशस्वास्थ्य

देश: लॉकडाउन पर पानी फेर सकती है भारतवासियों की ये आदतें, आज ही छोड़ दें इन्हे नहीं तो पड़ेगी सब पर भारी…

कोरोना वायरस का संक्रमण देशभर में लगातार बढ़ता जा रहा है। संक्रमण से मौतों का आंकड़ा भी अब बढ़ रहा है। लेकिन इस महामारी से बचने के लिए सोशल डिस्टेंसिंग, सतर्कता के साथ-साथ साफ-सफाई का भी पूरा ख्याल रखना होगा। इसके अलावा, हमें ऐसी आदतों को भी छोड़ना होगा जिससे कोरोना वायरस को फैलने में मदद मिल सकती हो।

जाहिर है कि भारत में अधिकतर लोगों को सड़क पर चलते हुए या सार्वजनिक स्थानों पर थूक देने की आदत है। सड़क पर थूकना ना सिर्फ अशिष्टता है बल्कि सेहत के लिए भी बेहद खतरनाक है। हेल्थ एक्सपर्ट्स की मानें तो कोरोना वायरस थूकने से भी फैलता है। कोरोना से संक्रमित कोई व्यक्ति अगर खुले में थूकता है तो उसके मुंह की लार 24 घंटे के अंदर संक्रमण फैला सकती है। इसलिए थूकने से रोकने को भी एक अभियान की तरह चलाना चाहिए तभी लोगों में जागरुकता आएगी क्योंकि थूकने की आदत लोगों के जीवन को खतरे में डाल सकती है।

एक्सपर्ट्स का कहना है कि अगर आप कोरोना संक्रमण से बचना चाहते हैं तो आपको बहुत सावधान रहने की जरूरत है। अपने आसपास छोटी-छाटी चीजों को ध्यान में रखना होगा। वहीं आपको अपनी कुछ आदतों में भी बदलाव करना होगा। क्योंकि आपकी कुछ आदतें आपको संक्रमण के खतरे के पास ले जा सकती है।

थूकना-

थूकना भी इन्ही ख़राब आदतों में से एक है। कई लोगों को कहीं भी थूकने की आदत होती है जैसे चलते हुए, गाड़ी चलाते समय या फिर गाड़ी में बैठे-बैठे. थूक में जीवित कीटाणु होते हैं। जब कोई व्यक्ति थूक के पास से गुजरता है तो ये ड्रॉपलेट्स मुंह, नाक और आंखों के जरिए प्रवेश कर उस व्यक्ति को संक्रमित कर देते हैं। इसके अलावा थूक में सिर्फ लार नहीं होती बल्कि कभी-कभी इसमें बलगम भी होता है जिसमें कई प्रकार के कीटाणु पाए जाते हैं।

उंगली से दांतों को साफ करना-

कई बार दांतों में कुछ चीजें फंस जाती है, खासकर तब जब हम कुछ खाते हैं। उसके बाद दांतों में फंसे कुछ कणों को हम अपनें नाखून व उंगलियों की मदद से निकालते हैं। लेकिन ये आदत बहुर गलत साबित हो सकती है। क्योंकि आपके हथ में वायरस या अन्य कीटाणु आपके शरीर में सीधे प्रवेश कर सकते हैं इसलिए सतर्क हो जाएं। अगर आपके दांतों में कुछ फंसा है तो उसे टूथब्रश से ही निकालना सही है।

बार-बार बालों को हाथ लगाना

अपने बालों को बार-बार हाथ लगाना आपको लिए नुकसान देय हो सकता है। क्योंकि बाल अगर किसी गंदी सतह को छू जाते हैं और आप इन्हे छूते हैं तो वो वायरस आपके हाथों के जरिये मुंड, नाक और आंख में लगने से शरीर में प्रवेश कर सकते हैं। इसलिए अपने बालों को छूने से बचें।

नाखून चबाना

डॉक्टर्स के अनुसार नाखून चबाना आपके लिए बहुत खतरनाक हो सकता है। क्योंकि नाखून में सभी प्रकार के कीटाणु होते हैं, जिन्हें चबाने से वे हमारे मुंह में चले जाते हैं और हमें संक्रमित कर सकते हैं। इसलिए अगर आपको नाखून चबाने की आदत है तो उसे जल्द छोड़ दें।

कपड़ों व बेडशीट को धोएं-

कोरोना वायरस के संक्रमण से बचने के लिए अपने आस-पाससाफ सफाई बहुत जरुरी है। वायरस सतह पर कुछ दिनों तक जिंदा रहते हैं। इसलिए शरीर के संपर्क में आने वाले कपड़ों को धोते रहें और साथ ही अपनी बेडशीच, टॉवल को सप्ताह में कम से कम 2 से 3 बार धोएं।

बाथरूम के वॉश बेसिन पर न रखें टूथब्रश

कुछ लोगों की आदत होती है अपने टूथब्रश को यूज करने के बाद उसे बेसिन या फिर कहीं भी फ्लैट रख देते हैं।आपको बता दें की ये आदत बहुत गलत होती है। क्योंकि वायरस सतह पर कई दिनों तक जिंदा रहते हैं और ऐसे में वॉश बेसिन पर फ्लैट टूथब्रश रखने से वो आपके मुंह के रास्ते शरीर में प्रवेश कर सकता है।

अगर हम ऐसी ख़राब आदतों को नहीं त्यागते है तो देशव्यापी लॉकडाउन सहित तमाम तपस्या पर पानी फिर जायेगा। पीएम मोदी ने कहा कि कभी नहीं करने से बेहतर देर से शुरू करना है। लोगों को अब थूकने के खतरनाक परिणाम समझ में आने लगे हैं जो स्वच्छता को भी प्रभावित करते हैं। उन्होंने कहा कि थूकने पर रोक लगाने से बुनियादी स्वच्छता बढ़ेगी और COVID-19 के खिलाफ लड़ाई मजबूत होगी।

Related Articles

Back to top button
Close
Close
Open chat