देश

पीएम किसान सम्मान निधि योजना: नई किस्त के 2000 रुपये आपके खाते में नहीं आए, तो तुरंत करें इस नंबर पर फोन…

नई दिल्ली। देशव्यापी कोरोना लॉकडाउन के चलते प्रभावित हुए देश भर किसानों को राहत देते हुए केंद्र सरकार ने पीएम किसान सम्मान निधि योजना के तहत 2,000 रुपये की रकम 9.13 करोड़ किसान परिवारों के खाते में ट्रांसफर की है। किसानों को दी गई इस मदद के तहत सरकार की ओर से अब तक 18,253 करोड़ रुपये की रकम जारी की जा चुकी है।

अगर आप भी ऐसे किसान हैं, जिन्होंने पीएम किसान योजना के तहत पंजीकरण तो कराया था और अब तक 2,000 रुपये की रकम खाते में नहीं आई है तो इन नंबरों पर कॉल करके आप स्टेटस जान सकते हैं और समस्या का समाधान पा सकते है-

पीएम किसान हेल्पलाइन नंबर-
PM किसान हेल्पलाइन- 155261
PM किसान टोल फ्री- 1800115526
लैंड लाइन नंबर- 011-23381092, 23382401

इसके अलावा यदि आप टेक फ्रेंडली हैं तो फिर pmkisan-ict@gov.in पर ईमेल भी कर सकते हैं।

इससे पहले आपको एक बार पीएम किसान योजना की लिस्ट में अपना नाम भी चेक कर लेना चाहिए-
सबसे पहले आपको pmkisan.gov.in/ वेबसाइट पर जाना होगा। पेज खुलने पर आपको ऊपर दिए गए विकल्पों में से ‘Farmer’s Corner’ का विकल्प चुनना होगा। इसके बाद ‘beneficiary list’ पर क्लिक करना होगा। अब अपने राज्य, जिले, उप-जिले, ब्लॉक और गांव की डिटेल दर्ज करानी होगी। इसे भरने के बाद Get Report पर क्लिक करना होगा और आपके सामने पूरी लिस्ट खुल जाएगी।

क्या हैं PM Kisan Yojana के फायदे-

2019 मोदी सरकार की ओर से इस स्कीम का ऐलान में किया गया था, जिसके तहत किसानों को सालाना 6,000 रुपये की रकम साल में 3 किस्तों में ट्रांसफर की जाती है। हर 4 महीने पर 2,000 रुपये की रकम किसानों को इस स्कीम के तहत दी जाती है। इस स्कीम से देश भर के 14 करोड़ किसान परिवारों को जोड़ने का लक्ष्य सरकार ने रखा है।

बता दें कि वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण (Finance Minister of India) ने किसानों के लिए कई बड़े ऐलान किए है। गुरुवार को वित्त मंत्री ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में बताया कि पीएम किसान (PM-KISAN) योजना के तहत 9.13 करोड़ किसानों के खातों में 18,253 करोड़ रुपये भेजे हैं।

आपको बता दें कि पीएम किसान सम्मान निधि योजना 2020 की नई सूची सरकारी वेबसाइट pmkisan.gov.in पर जांच सकते हैं। इसके अलावा अगर आपको लाभार्थी अपनी स्थिति की ऑनलाइन जांच के साथ ऑनलाइन अपना नाम जोड़ने का आवेदन भी कर सकते हैं।

Related Articles

Back to top button
Close
Close
Open chat