71% लोगों को लगता है भारत में प्रेस की स्वतंत्रता खतरे में है: सर्वेक्षण

भारत में 71 फीसदी लोगों को प्रेस की आजादी खतरे में लगती है। एक सर्वेक्षण से यह परिणाम सामने आया है।

‘नेता’ ऐप ने देश में प्रेस की आजादी को लेकर लोगों की राय ली है। इसने कहा कि 19 राज्यों और एनसीआर के 75,000 लोगों ने सर्वेक्षण में हिस्सा लिया।

सर्वेक्षण के मुताबिक, 71 फीसदी लोगों को लगता है कि भारत में प्रेस की आजादी खतरे में है, जबकि 26 प्रतिशत लोगों का मानना है कि प्रेस की स्वतंत्रता पर्याप्त है। तीन फीसदी लोगों ने कोई राय व्यक्त नहीं की।

नेता ऐप के संस्थापक प्रथम मित्तल ने कहा, ‘हमारे डेटा के मुताबिक, यह विचार बिहार, झारखंड, मध्य प्रदेश जैसे उत्तरी राज्यों में ही ज्यादा है लेकिन तेलंगाना, केरल, तमिलनाडु सरीखे दक्षिणी राज्यों में यह राय कम है।’

सर्वेक्षण के मुताबिक, झारखंड के 88.89 प्रतिशत उत्तरदाताओं को लगता है कि भारत में प्रेस की स्वतंत्रता को खतरा है जबकि तेलंगाना में 55 फीसदी उत्तरदाताओं को प्रेस की स्वतत्रंता खतरे में लगती है।

You may have missed

error: Content is protected !!