अन्य

दवा विक्रेताओं ने खाई कसम-नहीं करेंगे नशीली दवाओं की अवैध बिक्री

काश की यह पहल बिलासपुर में भी होता।

दवा विक्रेताओं ने खाई कसम- नहीं करेंगे नशीली दवाओं की अवैध बिक्री कार्यक्रम में उपस्थित दवा विक्रेता व अन्‍य.
छत्‍तीसगढ़ के कोरबा में कोतवाली पुलिस ने रविवार को नशामुक्ति पर फोकस एक जागरूकता कार्यक्रम का आयोजन किया. इसमें दवा विक्रेताओं ने शपथ ली कि वे नशे की दवाइयों की अवैध बिक्री नहीं करेंगे और न होने देंगे.

कार्यक्रम की मुख्य अतिथि रहीं सीजेएम उर्मिला गुप्ता. उन्‍होंने एक बच्चे के अपहरण से जुड़ी कहानी सुनाई. उन्होंने बताया कि कुछ बदमाशों ने एक बच्‍चे का अपहरण कर उसकी हत्‍या कर दी थी. पकड़े जाने पर उन्‍होंने कबूल किया कि अपनी नशे की आदत को पूरा करने में आड़े आई पैसे की किल्लत की वजह से उन्होंने एक मासूम की बलि‍ चढ़ा दी.

उन्‍होंने इस उदाहरण के जरिये दवा विक्रेताओं से आग्रह किया कि अगर वे डॉक्टर की पर्ची के बगैर नशीली दवा बेचना बंद कर दें, तो नशामुक्त समाज का सपना साकार होगा. दवा विक्रेताओं से मुखातिब होते हुए सीजेएम ने कहा कि हम इन बच्चों की सुरक्षा के लिए लालच छोड़ दें. शत-प्रतिशत दवा विक्रेताओं को पता होता है कि कौन नशे के लिए दवा ले रहा है और कौन इलाज के लिए.

सीजेएम ने कहा कि पैसा जोड़कर क्या करोगे. थोड़ा योगदान समाज को भी दें. ऐसे किसी व्यक्ति को नशीली दवा न दें जिसे मर्ज के लिए उसकी जरूरत नहीं, उसे तो नशा करना है. आपका यह योगदान आने वाली पीढ़ी को बचा सकता है.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
Close
Close
Open chat