अन्य

दुनिया में इस जनजाति के लोगों को माना जाता सबसे खतरनाक क्योंकि…

 पूरे विश्व में अजीबो-गरीब जनजातियां पाई जाती है जिनके जीवन का तरीका, खान-पान और परंपरा सबसे अलग हैं और वे चर्चा के विषय में भी रहती में एक है मुर्सी जनजाति, जो पूर्वी अफ्रीका के इथोपिया में रहते हैं मुर्सी जनजाति में सबसे खतरनाक लोग आते हैं। दुनिया में इस जनजाति के लोगों को सबसे खतरनाक माना जाता है क्योंकि इनका मानना ​​है कि ‘किसी को मारे बगैर जीवित रहने से अच्छा है मरना’। आज हम आप के बारे में कुछ बातें बताने जा रहे हैं…

1. मुर्सी ट्राबे का बसेरा दक्षिण इथियोपिया और सूडान बॉर्डर ओमान वैली में रहता है। इनकी कुल आबादी करीब 10 हजार है

2. ये जनजाति अपने परंपरा के बारे में बहुत चर्चा में रहती है। लोगों की बुरी नज़र से बचने के लिए यह शारीरिक परिवर्तन की प्रक्रिया के तहत इस जनजाति के महिलाओं की निचले होंठ में लकड़ी या मिट्टी की डिस्क पहनी जाती है।

3. 15 साल की उम्र में कबीले की लड़कियों को यह डिस्क पहना जाता है। लिप-प्लेट के नाम से चर्चित इस बॉडी मोडिफिकेशन के कारण यहां पर महिलाएं दुनियाभर में पर्यटकों की नजर में आकर्षण का केंद्र बन गए हैं।

4. अफ्रीका में अब मुर्सी, छाई और तिरमा जनजाति ही हैं, जिसमें इस प्रथा का चलन अब भी जारी है।

5. ऐसा माना जाता है कि मुर्सि ट्राइब की महिलाओं के निचले होंठ में डिस्क लगाने के कारण उन्हें, गुलाम को खरीदने-बेचने वाले व्यापारियों से बचा जाना चाहिए। जनजाति के बुजुर्गों के मुताबिक, ऐसा करने से महिलाओं की सुंदरता कम हो जाती है और वे कम आकर्षक दिखते हैं।

6. 15 साल की आयु तक आने के बाद लड़की की मां कबीले की दूसरी महिलाओं के साथ मिलकर उसके निचले होंठ को काट दिया जाए। घास पकने के बाद में लकड़ी का टुकड़ा फंसाया जाता है। फिर कुछ महीनों बाद में 12 सेंटीमीटर व्यास की डिस्क फंसा दी जाती है, जो कि पूरी जिंदगी उसके होंठ में लगी रहती है।

7. मुर्सी जनजाति के लोग लड़ाई से पहले महान गाय का खून पीते हैं, ताकी वो अधिक मोटे और ताकतवर बन सकें और कबीले में सम्मान के साथ जी सकेंगे। हालांकि, न्यू ईयर सेलिब्रेशन के समय भी लोग गाय का खून और दूध बहुत पीते हैं।
8. इसके अलावा इस मुर्सी जनजाति के पुरुष, महिलाओं के लिए आपस में डंडों से युद्ध भी करते हैं। ऐसा माना जाता है कि जो व्यक्ति में लड़ाई में जीतता है वह सबसे सुंदर बीवी मिलती है।
9. मुर्सी जनजाति के लोग आज भी अपने ही पुराने परंपरा के अनुसार जीते हैं। लेकिन सुरक्षा के लिए इनके पास आधुनिक हथियार मौजूद हैं। बताया जाता है कि इनके पास ए -04 तक का पता चला है।

10. मुर्सी जनजाति के लोगों के एके -47 के पुराने मॉडल को 8 से 10 लोग देकर खरीदते हैं, जबकि नया मॉडल 30-40 से गाय देकर खरीदते हैं। पड़ोसी देश सूदान और सोमालिया से उन्हें हथियार की आपूर्ति की जाती है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
Close
Close
Open chat