अन्य

राम रहीम को ‘राक्षस’ कहती थीं साध्वियां, गुफा में ऐसे होता था कांड

रेप केस में जेल की सजा काट रहे राम रहीम के बारे में हर रोज नए खुलासे हो रहे हैं. रेपिस्ट बाबा के पूर्व मैनेजर रंजीत की बहन ने सीबीआई के सामने कई बड़े राज खोले हैं. वह भी राम रहीम की अनुयाई थी. उसके डेरे में रहती थी. 1999 में राम रहीम ने उसके साथ दो बार रेप किया था. इसके 3 साल बाद रंजीत की हत्या हुई थी.

सीबीआई चार्जशीट के मुताबिक, पीड़िता ने बताया कि 28-29 अगस्त 1999 की रात को बाबा ने उसे अपनी गुफा में बुलाया. उस समय वह अकेला था. वहां पहुंचने पर उसने दरवाजा बंद करने के लिए कहा. इसके बाद पीड़िता दरवाजा बंद करके फर्श पर बैठ गई, तो बेड पर आकर बैठने के लिए कहा और बातें करने लगा.

राम रहीम ने पीड़िता से कहा कि एक लड़का उसके बारे में पता करते हुए डेरे पर आया था. जब पीड़िता ने अपनी सफाई दी, तो बाबा ने कहा था, ‘चिंता मत करो, तुम अब साध्वी बन चुकी हो और सब बाबा के नाम कर चुकी हो.’ इसके बाद उसने उसके माथे पर चूमा और शरीर को छूने लगा. विरोध करने पर उसको धमकियां देने लगा.

गुफा के अंदर राम रहीम ने किया रेप

पीड़िता ने राम रहीम से कहा वह उसे भगवान की तरह मानती है, तो उसने कहा कि यदि भगवान मानती हो तो तुम पर मेरा पूरा अधिकार है. इसके बाद उसने पीड़िता के साथ रेप किया. उसने कहा कि वह उसे पवित्र कर रहा है. इस घटना के बाद पीड़िता को नए डेरे से पुराने डेरे पर शिफ्ट कर दिया गया. बाबा की गुफा वहां भी थी.

पीड़िता ने तंग आकर बताई आपबीती

वहां भी राम रहीम ने उसके साथ रेप किया. इससे तंग आकर उसने अपने भाई रंजीत को आपबीती सुनाई. उसने उसे चुप रहने के लिए कहा. रंजीत की दोनों बेटियां भी डेरे में ही पढ़ा करती थी. इस वजह से उसने कहा कि परीक्षा खत्म होते ही वह उनको डेरे से ले जाएगा. कुछ दिनों बाद वह बहाना बनाके करके वहां से ले आया.

गुफा के बाहर साध्वियों को रखा जाता था

बताते चलें कि राम रहीम डेरे की गुफा में रहा करता था. गुफा के बाहर संतरी की ड्यूटी देने के लिए दिन-रात साध्वियों को ही तैनात किया जाता था. पीड़िता को भी हर 20 दिन में ड्यूटी देनी पड़ती थी. इसके साथ ही वह डेरे के स्कूल में भी पढ़ाया करती थी. डेरे के हॉस्टल में उसे पता चला कि साध्वियां रात को गुफा में जाती हैं.

गुफा से रोते हुए बाहर निकली साध्वी

एक दिन संतरी की ड्यूटी के दौरान पीड़िता ने देखा कि पंजाब की दो साध्वियों को गुफा के अंदर गई. कुछ दिन बाद उन दोनों में से पंजाब की एक साध्वी डेरे को छोड़कर चली गई. वहां से जाते समय उसने राम रहीम को काफी बुरा-भला कहा था. एक रात को उसे देखा कि एक एक साध्वी रोते हुए गुफा से बाहर आ रही है.

राम रहीम को राक्षस कहकर छोड़ा डेरा

इसी तरह से डेरे से कई साध्वियां राम रहीम को राक्षस कहते हुए वहां से चली गई. कई साध्वियों ने गुपचुप बातचीत में राम रहीम के उनके साथ गलत काम करने की बात भी बताई. साध्वियां आपस में एक-दूसरे को ये कहकर छेड़ा करती थी कि क्या उन्हें बाबा ने माफ कर दिया, लेकिन कोई माफी का मतलब नहीं बताता था.

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Back to top button
Close
Close
Open chat