Fri. Jan 24th, 2020

छत्तीसगढ़, राजस्थान और मध्यप्रदेश में आज होगा शपथ ग्रहण समारोह…पहुंचेंगे देश के कई दिग्गज नेता…

रायपुर/ बीजेपी के मजबूत किले माने जाने वाले तीन हिंदी राज्यों में आज नई सरकारें बनने जा रही हैं। छत्तीसगढ़, राजस्थान और मध्यप्रदेश के नवनिर्वाचित मुख्यमंत्रियों का आज शपथ ग्रहण समारोह होगा। मीडिया रिपोर्ट्स की माने तो मध्यप्रदेश में सुबह 11.30 बजे कमलनाथ मुख्यमंत्री पद शपथ लेंगे, जबकि राजस्थान में दोपहर 1.30 बजे अशोक गहलोत और सचिन गहलोत मुख्यमंत्री और उपमुख्यमंत्री के तौर पर शपथ लेंगे। वहीं छत्तीसगढ़ में भूपेश बघेल शाम साढ़े चार बजे मुख्यमंत्री के रुप में शपथ लेंगे। 

राजस्थान में गहलोत और पायलट लेंगे शपथ

कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अशोक गहलोत बतौर मुख्यमंत्री और सचिन पायलट बतौर उपमुख्यमंत्री आज शपथ लेंगे। शपथ ग्रहण समारोह अल्बर्ट हॉल में किया जाएगा। अल्बर्ट हॉल में यह पहली बार किसी सरकार का शपथ ग्रहण समारोह आयोजित किया जा रहा है। समारोह में पूर्व प्रधानमंत्री मनमोहन सिंह, कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी कई घटक दलों के नेता शामिल होंगे। 

छत्तीसगढ़ में बघेल की ताजपोशी

वहीं भूपेश बघेल रायपुर के साइंस कालेज मैदान में वे अकेले शपथ लेंगे। बघेल सोमवार शाम 4.30 बजे मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे। राज्यपाल आनंदीबेन पटेल 58 वर्षीय बघेल को पद एवं गोपीयता की शपथ दिलाएंगी। राज्यपाल के प्रतिनिधि के तौर पर राज्यपाल के सचिव सुरेंद्र कुमार जायसवाल ने बघेल का दावापत्र ग्रहण किया। उसके बाद राज्यपाल आनंदीबेन पटेल ने 17 दिसंबर की शाम 4:30 बजे भूपेश बघेल को मुख्यमंत्री के पद की शपथ लेने के लिए आमंत्रित किया।

मध्यप्रदेश में कमलनाथ लेंगे सीएम पद की शपथ

मध्यप्रदेश में कांग्रेस विधायक दल के नेता कमलनाथ सोमवार को यहां एक भव्य समारोह में मुख्यमंत्री पद की शपथ लेंगे. कमलनाथ दोपहर 1 बजे शपथ लेंगे। राज्यपाल आनंदीबेन पटेल उन्हें पद और गोपनीयता की शपथ दिलाएंगी। इस समारोह में कई विपक्षी दलों के नेताओं के पहुंचने की संभावना है और यह शपथ ग्रहण सामारोह विपक्षी एकता का मंच भी बनने वाला है।

इस समारोह में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी, सोनिया गांधी, समाजवादी नेता शरद यादव, राकांपा के शरद पवार, सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव के अलावा तेदेपा प्रमुख चंद्रबाबू नायडू, दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल, कर्नाटक के मुख्यमंत्री एच.डी. कुमारस्वामी सहित कई अन्य दलों के नेताओं के भी आने की संभावना जताई जा रही है।

You may have missed

error: Content is protected !!