राजनीति

छत्तीसगढ़: पूर्व मुख्यमंत्री अजित जोगी का परिवार चुनाव से बाहर, अमित जोगी और पत्नी ऋचा जोगी का नामांकन रद्द…

बिलासपुर। छत्तीसगढ़ में पहली बार ऐसा हुआ है जब पूर्व सीएम अजित जोगी (Ajit Jogi) का परिवार मरवाही सीट के चुनाव से बाहर हो गया है। निर्वाचन अधिकारी ने छत्तीसगढ़ जनता कांग्रेस के अध्यक्ष अमित जोगी (Amit Jogi) का नामांकन रद्द कर दिया है। इतना ही नही अमित जोगी की पत्नी ऋचा जोगी (Richa Jogi) का नामांकन भी रद्द कर दिया गया है। दोनों के जाति प्रमाण पत्र सही न पाए जाने पर ये कार्रवाई की गई है।

शनिवार का दिन छत्तीसगढ़ जनता कांग्रेस के अध्यक्ष अमित जोगी के लिए बड़ा झटका लेकर आया। छत्तीसगढ़ राज्य बनने के बाद ये पहला मौका है जब मरवाही सीट पर जोगी परिवार का कोई सदस्य चुनाव नहीं लड़ेगा। इसके पहले हमेशा यहां से अजित जोगी चुनाव जीतते रहे थे। यहीं से चुनाव जीतकर ही वह राज्य के पहले मुख्यमंत्री भी बने थे। एक बार उनके बेटे अमित जोगी भी यहां से चुनाव जीत चुके हैं।

एक दिन पहले शुक्रवार को ही अमित जोगी और उनकी पत्नी ऋचा जोगी ने मरवाही विधानसभा सीट के लिए नामांकन दाखिल किया था। अमित जोगी की जाति को लेकर विवाद चल रहा था जिस पर शनिवार को राज्य की उच्च स्तरीय छानबीन समिति ने अमित जोगी का जाति प्रमाण पत्र निरस्त कर दिया। जाति प्रमाण पत्र निरस्त होने के बाद निर्वाचन अधिकारी ने अमित जोगी का नामांकन रद्द कर दिया। वहीं उनकी पत्नी के जाति प्रमाण पत्र को भी मुंगेली जिला जाति सत्यापन समिति ने गलत पाते हुए निलंबित कर दिया था जिसके चलते ऋचा जोगी का भी नामांकन निरस्त कर दिया गया।

अजित जोगी का प्रमाण पत्र भी हुआ था निरस्त

छत्तीसगढ़ की मरवाही सीट पूर्व अजित जोगी के निधन के चलते खाली हुई थी। अनुसूचित जनजाति के लिए आरक्षित इस सीट पर पूर्व सीएम अजित जोगी कंवर जाति के प्रमाण पत्र पर चुनाव लड़ते थे। इस पर आपत्ति की गई थी जिस पर राज्य की उच्च स्तरीय छानबीन समिति ने जांच के बाद अजित जोगी का जाति प्रमाण पत्र निरस्त कर दिया था। मामला कोर्ट में गया इसी दौरान अजित जोगी का निधन हो गया। अजित जोगी के निधन के बाद जब मरवाही सीट खाली हुई तो एक बार फिर जोगी परिवार की जाति का जिन्न बोतल से निकल आया। मामला एक बार फिर राज्य की उच्च स्तरीय छानबीन समिति के पास पहुंचा जहां शनिवार को समिति ने अमित जोगी का जाति प्रमाण पत्र निरस्त कर दिया।

वहीं अमित जोगी की पत्नी और अजित जोगी की बहू ऋचा जोगी की जाति भी गलत पाई गई है जिसके चलते उनका नामांकन भी रद्द हो गया है। ऐसे में जोगी परिवार की परंपरागत सीट रही मरवाही पहली बार परिवार से बाहर किसी के हाथ में जाएगी। फिलहाल बचाव के लिए छत्तीसगढ़ जनता कांग्रेस ने दो अन्य उम्मीदवार मूलचंद और पुष्पेश्वरी तंवर से भी नामांकल दाखिल कराया है।

सरकार पर अमित जोगी का हमला

जाति प्रमाण पत्र निरस्त किए जाने पर अमित जोगी ने सरकार पर हमला बोला है। अमित जोगी ने कहा “कल रातों रात उच्च स्तरीय जाति छानबीन समिति ने मेरा प्रमाण पत्र निरस्त कर दिया।इसकी खबर मुझे छोड़ बाक़ी सबको थी! मैंने उसे पढ़ने के लिए समय माँगा, वो भी नहीं दिया! कातिल ही मुनसिफ है, क्या मेरे हक में फैसला देगा।”

नामांकन रद्द होने के बाद अमित जोगी ने मशहूर शायर हबीब जालिब का एक शेर ट्वीट किया है- मैं भी मंसूर हूँ कह दो अग़्यार से, क्यूँ डराते हो ज़िंदाँ की दीवार से, ज़ुल्म की बात को जहल की रात को, मैं नहीं मानता मैं नहीं जानता।

Related Articles

Back to top button
Close
Close