राजनीति

पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह बोलें…‘गमलों में खेती करके करोड़ों रुपये कमाने वाले’ कांग्रेस नेताओं के पेट में मरोड़…

रायपुर। भारतीय जनता पार्टी के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष और प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह ने कहा है कि केंद्र सरकार के कृषि सुधार संबंधी विधेयकों और श्रम क़ानूनों में परिवर्तन के ख़िलाफ़ विधानसभा में प्रस्ताव लाने और इसे लेकर कोर्ट जाने की बात कहकर प्रदेश के मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने एक बार फिर अपने संविधान-विरोधी, किसान-विरोधी, मज़दूर-विरोधी और छल-कपटपूर्ण राजनीतिक चरित्र का परिचय दिया है।

डॉ. सिंह ने कहा कि ‘गमलों में खेती करके करोड़ों रुपये कमाने वाले’ कांग्रेस नेताओं के पेट में इसलिए भी मरोड़ उठ रही हैं, क्योंकि अब इन विधेयकों में किए गए प्रावधानों से ऐसे ‘तथाकथित किसानों’ की काली कमाई का भांडा फूट जाएगा। डॉ. सिंह ने कहा कि वस्तुत: आज कांग्रेस का नेतृत्व बौना और दुविधाग्रस्त है और विचारशील नेतृत्व आइसोलेट हो गया है।

भाजपा के राष्ट्रीय उपाध्यक्ष व पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. सिंह ने मीडिया में जारी आज बयान में कहा कि छत्तीसगढ़ में सत्ता में आने के बाद से केंद्र सरकार के ख़िलाफ़ झूठ बोलकर न केवल प्रदेश में अराजकता का माहौल बनाने में अपितु क़दम-क़दम पर केंद्र सरकार के फैसलों का विरोध करके संघीय ढाँचे की अवमानना करने का असंवैधानिक कृत्य करने में लगे मुख्यमंत्री बघेल आज केंद्र-राज्य के अधिकारों पर ज्ञान बाँटने से पहले संवैधानिक प्रावधानों का गंभीर अध्ययन करें।

डॉ. सिंह ने कहा कि संविधान में वर्णित समवर्ती सूची के विषय क्रमांक 33 और 33 (ब) में लोकसभा और राज्यसभा को इस संबंध में क़ानून बनाने का प्रावधान है। जब संसद में ये विधेयक चर्चा के लिए प्रस्तुत किए गए थे, तब कांग्रेस के विधिवेत्ताओं ने भी इन विधेयकों की वैधता और केंद्र सरकार की अधिकारिता पर कोई सवाल नहीं उठाया तो छत्तीसगढ़ विधानसभा में इन विधेयकों के ख़िलाफ़ प्रस्ताव लाने की बात कहकर मुख्यमंत्री बघेल अपनी राजनीतिक समझ-बूझ पर ख़ुद ही सवाल खड़ा कर रहे हैं।

डॉ. सिंह ने कहा कि कांग्रेस इस मुद्दे पर अपनी झूठ और भ्रम की राजनीति करके राफेल विमान सौदे की तरह ही औंधे मुँह गिरेगी। भाजपानीत राजग की केंद्र सरकार ने किसानों के हित में जो क्रांतिकारी फैसले लिए हैं, उससे कांग्रेस को अपना वज़ूद ख़तरे में पड़ता नज़र आ रहा है और इसीलिए कांग्रेस समेत विपक्षी दलों में बिलबिलाहट मची हुई है।

Related Articles

Back to top button
Close
Close
Open chat