राजनीति

हाथरस एसपी, डीएसपी, पुलिसकर्मियों के निलंबन पर बोलीं प्रियंका गांधी, मोहरों को सस्पेंड करने से क्या होगा?

हाथरस में दलित लड़की से कथित रेप और हत्या के मामले में जिले के एसपी, डीएसपी और दूसरे पुलिसकर्मियों के निलंबन को कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी ने नाकाफी बताया है। प्रियंका ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से कहा है कि मोहरों को सस्पेंड मत करिए, खुद जिम्मेदारी लीजिए और इस्तीफा दीजिए। प्रियंका गांधी ने हाथरस के डीएम, एसपी के फोन रिकार्ड्स पब्लिक किए जाने की भी मांग की है।

पीड़िता के परिवार को किसके इशारे पर किया परेशान

प्रियंका गांधी ने अपने ट्वीट में लिखा है, योगी आदित्यनाथ जी कुछ मोहरों को सस्पेंड करने से क्या होगा? हाथरस की पीड़िता, उसके परिवार को भीषण कष्ट किसके ऑर्डर पर दिया गया? हाथरस के डीएम, एसपी के फोन रिकार्ड्स पब्लिक किए जाएँ। मुख्यमंत्री अपनी जिम्मेदारी से हटने की कोशिश ना करें। देश देख रहा है, योगी आदित्यनाथ इस्तीफा दो।

यूपी सरकार ने हाथरस एसपी, डीएसपी को किया सस्पेंड

हाथरस में दलित लड़की के साथ दरिंदगी और हत्या के मामले में उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार ने एसपी विक्रांत वीर सिंह, सीओ राम शब्द, इंस्पेक्टर दिनेश कुमार वर्मा, एसआई जगवीर सिंह और हेड मोहर्रिर महेश पाल को निलंबित किया है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्राथमिक जांच रिपोर्ट के आधार पर पुलिस अफसरों के खिलाफ ये कार्रवाई की है।

प्रियंका ने की प्रार्थना

हाथरस की बेटी के लिए प्रियंका ने की प्रार्थना
हाथरस पीड़िता के लिए शुक्रवार शाम प्रियंका गांधी दिल्ली में पंचकुइन्या रोड स्थित वाल्मीकि मंदिर में पहुंची। यहां पीड़िता के लिए प्रार्थना सभा रखी गई थी। प्रियंका गांधी ने यहां पीड़िता की आत्मा की शांति के लिए प्रार्थना की। इस दौरान प्रियंका ने कहा कि रात के समय अंतिम संस्कार करने की परंपरा कहां है। जो इस लड़की के साथ हुआ, जो उसके परिवार के साथ हो रहा है। इसके खिलाफ इस देश की एक-एक महिला और एक-एक पुरुष की आवाज उठनी चाहिए। इससे पहले राहुल गांधी, प्रियंका गांधी और कांग्रेस के कई नेता गुरुवार को हाथरस गैंगरेप पीड़िता के परिजनों से मिलने के लिए हाथरस जा रहे थे लेकिन पुलिस ने ग्रेटर नोएडा एक्सप्रेस-वे पर ही सबको रोककर हिरासत में ले लिया था।

Related Articles

Back to top button
Close
Close