खेल

बैडमिंटन / कश्यप कोरिया ओपन के सेमीफाइनल में, डेनमार्क के जोर्गेंसन को सिर्फ 37 मिनट में हराया

पारुपल्ली कश्यप ने डेनमार्क के जान ओ जोर्गेंसन को 24-22, 21-8 से हराया

कश्यप टूर्नामेंट में भारत की इकलौती उम्मीद; सिंधु, साइना और प्रणीत बाहर

खेल डेस्क. भारतीय शटलर पारुपल्ली कश्यप शुक्रवार को इंचियोन में खेले जा रहे कोरिया ओपन के सेमीफाइनल में पहुंच गए। उन्होंने मेंस सिंगल्स के क्वार्टरफाइनल में डेनमार्क के जान ओ जोर्गेंसन को 24-22, 21-8 से हराया। 33 साल के कश्यप ने इस मुकाबले को 37 मिनट में ही अपने नाम कर लिया। सेमीफाइनल में कश्यप का मुकाबला वर्ल्ड नंबर-1 और दो बार के चैम्पियन जापान के केन्तो मोमोता से शनिवार को होगा।

कश्यप का इस सीजन में दूसरा सेमीफाइनल होगा। इससे पहले वे इंडिया ओपन सुपर टूर्नामेंट के अंतिम-4 में पहुंचे थे। जोर्गेंसन के खिलाफ कश्यप पिछली बार डेनमार्क ओपन में पांच साल पहले खेले थे। दोनों के बीच ये सातवां मुकाबला था। कश्यप ने पांच मैच जीते। दो में उन्हें हार का सामना करना पड़ा। कश्यप ने इससे पहले प्री-क्वार्टरफाइनल में मलेशिया के डैरेन लियू को तीन गेम में हराया था। कश्यप ने उस मुकाबले को 21-17 11-21 21-12 से अपने नाम किया था।

पहले गेम में दोनों खिलाड़ियों का बेहतर प्रदर्शन
मैच की शुरुआत से ही दोनों खिलाड़ियों ने बेहतरीन प्रदर्शन किया। पहले गेम के अंतिम क्षणों में एक समय दोनों खिलाड़ी 20-20 से बराबर थे। इसके बाद जोर्गेंसन ने 22-21 से बढ़त बना ली। कश्यप ने वापसी करते हुए स्कोर 22-22 कर दिया। भारतीय खिलाड़ी ने दमदार खेल दिखाया और गेम को 24-22 से अपने नाम कर लिया। दूसरे गेम में कश्यप ने डेनमार्क के खिलाड़ी को कोई मौका नहीं दिया। ब्रेक तक वे 11-5 से आगे रहे। इसके बाद उन्होंने गेम को 21-8 से जीत लिया।

कश्यप 2014 कॉमनवेल्थ गेम्स स्वर्ण पदक जीते थे
कॉमनवेल्थ गेम्स (2014) के स्वर्ण पदक विजेता कश्यप इस टूर्नामेंट में भारत की इकलौती उम्मीद हैं। उनसे पहले वर्ल्ड चैम्पियन पीवी सिंधु और साइना नेहवाल बुधवार को पहले राउंड में बाहर हो गई थीं। साइना रिटायर हुई थीं। वहीं, मेंस सिंगल्स में बी साई प्रणीत भी चोट के कारण मैच को बीच में ही छोड़ कर टूर्नामेंट से हट गए थे।

Related Articles

Back to top button
Close
Close