खेल

आईपीएल 2020: केकेआर के CEO वेंकी मैसूर ने किया कंफर्म, पहले मैच में खेलेंगे टीम के ये दो स्टार विदेशी खिलाड़ी…

कोलकाता नाइट राइडर्स (केकेआर) के मुख्य कार्यकारी अधिकारी (सीईओ) वेंकी मैसूर ने कहा कि इंडियन प्रीमियर लीग (आईपीएल) में 23 सितंबर को खेले जाने वाले टीम के पहले मुकाबले के लिए स्टार खिलाड़ी इयोन मोर्गन और पैट कमिंस उपलब्ध रहेंगे। उन्होंने बताया कि अबुधाबी के अधिकारी खिलाड़ियों के क्वारंटाइन पीरियड को 14 की जगह छह दिन का करने पर सहमत हो गए हैं। अधिकारियों से इस अवधि को और कम करने के लिए बातचीत जारी है। मैसूर ने कहा कि इसको लेकर अधिकारियों से अभी बातचीत जारी है, लेकिन हम इस बात को समझ रहे हैं कि हमारे तीन खिलाड़ियों को क्वारंटाइन में रखा जा सकता है।

उन्होंने कहा कि ये खिलाड़ी 17 सितंबर को यहां पहुंचेंगे, लेकिन हमारा पहला मुकाबला 23 सितंबर को है, उस समय तक इन तीनों का क्वारंटाइन पीरियड पूरा हो जाएगा। यह हमारे लिए और टूर्नामेंट के लिए अच्छा है। इन तीन खिलाड़ियों में कमिंस और मोर्गन के अलावा इंग्लैंड के बल्लेबाज टॉम बैंटन भी शामिल है। ऑस्ट्रेलिया और इंग्लैंड के बीच तीन मैचों की वनडे सीरीज 16 सितंबर को मैनचेस्टर खत्म हो जाएगी। ये खिलाड़ी चार्टर्ड विमान से यहां पहुंचेंगे। अबुधाबी में नियमों के मुताबिक यूएई से बाहर से आने वालों को 14 दिनों के लिए अनिवार्य रूप से क्वारंटाइन में रहना होता है। रिपोर्ट के मुताबिक इस बात पर सहमति बन गई है कि खिलाड़ी छह दिनों की पृथकवास अवधि के बाद टीम-बबल (जैव-सुरक्षित माहौल) में अभ्यास कर सकते हैं।

दुबई में अनिवार्य क्वारंटाइन पीरियड का कोई नियम नहीं है। यह तभी होता है जब जांच में कोई कोविड-19 पॉजिटिव मिलता है। इसलिए, दुबई पहुंचने वाले खिलाड़ी पहले दिन से ही अपनी टीमों के लिए उपलब्ध रहेंगे। रिपोर्ट में कहा गया है कि ऐसा इसलिए संभव हुआ क्योंकि ये खिलाड़ी एक बायो-बबल (मैनचेस्टर में) से आ रहे हैं। केकेआर और मुंबई इंडियन्स केवल दो टीमें है जो अबू धाबी में स्थित हैं। मुंबई इंडियन्स की टीम में ऐसा कोई खिलाड़ी नहीं है जो इंग्लैंड-ऑस्ट्रेलिया वनडे सीरीज का हिस्सा है। बाकी छह अन्य टीमें दुबई में स्थित हैं।

इससे पहले, रॉयल चैलेंजर्स बेंगलोर के चेयरमैन संजीव चूड़ीवाला ने भी पुष्टि की थी कि ब्रिटेन से दुबई आने वाले खिलाड़ियों को आईपीएल नियमों के तहत पृथकवास में नहीं रहना होगा। मैसूर ने कहा कि हमने जो भी किया वह एक योजना थी और इसे आईपीएल मेडिकल टीम के साथ साझा किया गया था। उन्होंने कहा कि हमने उन्हें बताया कि वे ब्रिटेन में जैव-सुरक्षित माहौल में हैं। अगर हम उन्हें एक चार्टर विमान से लाएं और आव्रजन, परीक्षण, संपर्क रहित सामान और उन्हें आने की अनुमति देने वाले सभी चीजों का ध्यान रख कर उन्हें यहां बबल में शामिल कर सकते हैं।

मैसूर ने कहा कि आईपीएल ने इस बात को समझा और इसके लिए एसओपी (मानक संचालन प्रक्रिया) तैयार की जिसके मुताबिक एक बबल से दूसरे बबल में आने के लिए अनिवार्य पृथकवास की जरूरत नहीं होगी। मैसूर त्रिनिदाद एंड टोबैगो में कैरेबियाई प्रीमियर लीग (सीपीएल) खेल कर यहां आने वाले खिलाड़ियों के लिए भी ऐसा ही नियम चाहते है। सीपीएल गुरुवार को समाप्त हो गया और खिलाड़ी शनिवार को यूएई के लिए उड़ान भरेंगे। वहां से केकेआर की टीम में आंद्रे रसेल, सुनील नारायण और क्रिस ग्रीन जुड़ेंगे।

Related Articles

Back to top button
Close
Close
Open chat