देश

भारत की नई परेशानी, WTO में हिंदुस्तान के खिलाफ एकजुट हुए कई देश

(ताज़ाख़बर36गढ़) भारत के लिए वर्ल्ड ट्रेड ऑर्गनाइजेशन यानी WTO से टेंशन बढ़ाने वाली खबर आई है. WTO भारत की एक्सपोर्ट को बढ़ावा देने वाली स्कीमों के खिलाफ अमेरिका की शिकायत का यूरोपियन यूनियन, चीन, जापान जैसे कई देशों ने समर्थन किया है. भारत और अमेरिका के इस विवाद में ये देश तीसरे पक्ष के तौर पर शामिल हुए हैं. आपको बता दें कि अमेरिका ने WTO में भारत की लगभग सभी एक्सपोर्ट प्रमोशन स्कीमों को चुनौती दी है. अमेरिका ने अग्रीमेंट ऑन सब्सिडीज ऐंड काउंटरवेलिंग मेजर्स (ASCM) का हवाला देते हुए कहा है कि इन स्कीमों से उसके कर्मियों को नुकसान होगा.

अमेरिका ने इन सब्सिडी की वैल्यू 7 अरब डॉलर बताई है. इस विवाद में ब्राजील, मिस्र, कनाडा, जापान, कजाकस्तान, दक्षिण कोरिया, रूस, श्रीलंका, ताइवान, थाईलैंड और यूरोपियन यूनियन तीसरे पक्ष बन गए हैं. एक ट्रेड एक्सपर्ट ने कहा, ‘इन सभी देशों के इसके साथ हित जुड़े हैं. कुछ देशों का हमारे साथ मार्केट तक पहुंच को लेकर विवाद है, जबकि अन्यों को रीजनल कॉम्प्रिहेन्सिव इकनॉमिक पार्टनरशिप (RCEP) को लेकर समस्याएं हैं. भारत के साथ चीन, दक्षिण कोरिया, जापान और थाईलैंड RCEP ट्रेड अग्रीमेंट के सदस्य हैं. ये देश भारत पर ट्रेड वाले वाले गुड्स में से कम से कम 90 पर्सेंट पर ड्यूटी में बड़ी कटौती करने के लिए दबाव डाल रहे हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published.