क्राइमछत्तीसगढ़

दुष्कर्म पीड़िता को बच्चों की जान का भय,मांगी पुलिस सुरक्षा

दुष्कर्म पीड़िता को बच्चों की जान का भय,मांगी पुलिस सुरक्षा

बिलासपुर। प्रदेश के चर्चित दुष्कर्म मामले में पीड़िता को अपने बच्चों की जान का भय लग रहा है। ताजा खबर 36गढ़ से चर्चा के दौरान पीड़ित महिला ने बताया कि दुष्कर्मी फरार आरोपी प्राचार्य दीपक चक्रवर्ती के द्वारा पीड़िता को लगातार बच्चों को जान से मारने की धमकी मिल रही थी और दुष्कर्म की शिकायत नही करने के लिए दबाव बनाया जा रहा था। आज पीड़िता ने मामले में चर्चा करते हुए बताया कि आरोपी के फरार होने की वजह से उसके बच्चों को जान का खतरा बना हुआ है जब तक आरोपी पकड़ा नही जाता वह पुलिस सुरक्षा की मांग कर रही है।

ज्ञात हो कि संबंधित मामले में पीड़िता ने पुलिस को बताया हुआ है कि आरोपी के द्वारा पीड़िता की लड़की को बलात्कार कराकर जानसे मारने की धमकी मिलती रही है , साथ ही पुत्र को भी जान से मरवाने की बात पीड़ित महिला ने शिकायत में उल्लेखित की है। अतिरिक्त पुलिस अधीक्षिका मेघा टेम्बुलकर के समक्ष 9 अक्टूबर को पीड़ित महिला ने अपने पति के साथ सी एम डी कॉलेज के प्राचार्य दीपक चक्रवर्ती के खिलाफ दुष्कर्म की शिकायत की थी जिसमे पीड़िता ने बताया कि वह प्राचार्य के साथ एक वर्ष से आरसीएम का कार्य करती थी जहा मौके का फायदा उठाते हुए प्राचार्य ने उसे कोल्ड्रिंक में नशीला पदार्थ पिलाकर अचेतन अवस्था मे दुष्कर्म को अंजाम देना बताया था। यही नही दुष्कर्म के आरोपी प्राचार्य पर अश्लील वीडियो बनाकर वायरल करने की ब्लैकमेलिंग कर संबंध बनाने के लिए मजबूर करता था,औए दुष्कर्म की बात किसी और को बताने पर पीड़ित के बच्चों को जान से मारने की धमकी देता था।


दो दिन बीतने के बाद भी दुष्कर्म के आरोपी प्रचार्य को पुलिस पकड़ने में नाकाम रही है, जिसके कारण महिला को अपने बच्चों के जान की चिंता और भय लाजमी भी है । प्रचार्य की पहुच और रसूख़ का डर महिला को रात दिन सता रहा है। जिस कारण पीड़ित महिला ने अपने व बच्चों के लिए पुलिस सुरक्षा मांग कर रही है। मामले में अतिरिक्त पुलिस अधीक्षिका मेघा टेम्बुलकर ने बताया कि महिला के माध्यम से पुलिस सुरक्षा के लिए कोई आवेदन नही दिया है अगर आवेदन आता है तो सुरक्षा पर विचार किया जाएगा।

Show More

Related Articles

Back to top button
Close
Close