बिलासपुर

बिलासपुर: रेत माफिया के साथ सरपंच की सांठगांठ और थाने में झूठी शिकायत करने से भड़के ग्रामीण, अवैध उत्खनन के खिलाफ कसी कमर…

बिलासपुर। बिलासपुर से लगे ग्राम कछार मैं ग्राम पंचायत के सरपंच द्वारा रेत माफिया के साथ साठगांठ कर अरपा नदी मे रेत और गांव की सरकारी जमीन से अवैध मिट्टी की खुदाई करने के मामले को लेकर ग्रामीणों का आक्रोश चरम पर है। आज सुबह इसके खिलाफ गांव भर के लोगों ने रामनगर के मंदिर सभागृह में बैठक की। इस बैठक में गांव के सभी घरों से आए हुए लोग शामिल थे।

गांव में लोगों का गुस्सा रेत माफिया के साथ सांठगांठ कर गांव में रेत और मिट्टी की अवैध खुदाई तथा परिवहन की साजिश करने वाले सरपंच के खिलाफ लोगों ने अपनी बातें रखी। ग्रामीणों में इस बात को लेकर भी काफी आक्रोश था कि सरपंच की शह पर गांव में अवैध कारोबार करने वाले रेत माफिया के लोग ग्रामीणों को आए दिन धमकी चमकी देकर जान से मारने की बात करने लगे हैं। सरपंच और रेत माफिया के खिलाफ ग्रामीणों का आक्रोश 2 दिनों पहले हुई ग्राम सभा से और भड़क गया।

2 अक्टूबर को गांव मे हुई इस ग्राम सभा में ग्रामीणों ने सरपंच को आड़े हाथ लेते हुए कहा कि गांव में रेत की और मिट्टी की अवैध खुदाई बंद की जानी चाहिए। वहीं बीते दिनों मिट्टी की खुदाई से हुए गड्ढे में 1 बच्चे की मौत का जिक्र करते हुए ग्रामीणों ने कहा कि अब गांव में रेत और मिट्टी का अवैध उत्खनन तथा कारोबार बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। ग्रामीणों के ऐसा कहने पर रेत माफिया की चरखरीद गुलाम बन चुकी गांव की सरपंच विरोध करने वालों को गाली गलौज पर उतारू हो गई।

ग्राम का सचिव भी तैश में आकर अपनी कुर्सी से उठकर ग्रामीणों के बीच आकर उनसे गाली गलौज करने लगा। सरपंच सचिव ने बुरी तरह गालियां देते हुए ग्रामीणों को ललकारा कि अगर उनमें दम है तो वे रेत और मिट्टी की खुदाई बंद करा कर देख लें। सरपंच सचिव ने रेत माफिया का डर दिखाते हुए ग्रामीणों से कहा..इसका जो भी विरोध करेगा उन सभी को बुरी तरह मार पड़ेगी।इससे ग्रामीण भड़क गए और सामान्य सभा स्थगित करनी पड़ी।

इसके बाद ग्रामीणों की बात मानने की बजाय सरपंच और सचिव के द्वारा ग्राम सभा में विरोध करने वाले कुछ लोगों के खिलाफ कोनी थाने में झूठी शिकायत दी गई। इससे ग्रामीणों का गुस्सा और भड़क गया। सोमवार को ग्रामीणों ने एक बैठक आयोजित कर सरपंच सचिव और रेत माफिया की दादागिरी का खुलकर विरोध करने का फैसला किया। साथ ही यह भी तय किया कि इसके विरोध में गुरुवार को बिलासपुर पहुंच कर जिला पुलिस अधीक्षक तथा जिला कलेक्टर को ज्ञापन दिया जाएगा।

आज मंगलवार की सुबह ग्रामीणों ने एक सभा की और उसके पश्चात गांव में सरपंच सचिव तथा रेत माफिया के खिलाफ रैली निकाली। इस शांतिपूर्ण रैली के समापन पर ग्रामीणों ने संकल्प लिया कि गांव के सभी लोग गुरुवार को एक साथ बिलासपुर जाकर कलेक्टर तथा एसपी को गांव के हालात की जानकारी देंगे और रेत माफिया तथा सरपंच के द्वारा दी जा रही धमकियों की शिकायत करते हुए उनके खिलाफ उचित कार्रवाई की मांग का ज्ञापन उन्हें सौंपा जाएगा।

Related Articles

Back to top button
Close
Close
Open chat