कांग्रेसछत्तीसगढ़बिलासपुरराजनीति

कांग्रेस अध्यक्ष भूपेश बघेल का आरोप ,रमेश बैस को निपटाना चाहते है रमन

बिलासपुर। पीसीसी चेयरमैन ने कहा कि प्रदेश भाजपा में अब सिर्फ रमेश बैस बच गए हैं। वे बाईसर्जरी वाले हैं। सीएम उन्हें कोहनी मारकर निपटाना चाहते हैं। उन्होंने पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी की जाति के मामले में हाईकोर्ट के फैसले पर कहा कि अब मुख्यमंत्री डॉ. रमन सिंह और जोगी की सांठगांठ उजागर हो गई है। इस मामले में मुख्यमंत्री को आदिवासियों को जवाब देना चाहिए। हाईकोर्ट ने सरकार द्वारा उनकी जाति के मामले में गठित हाईपावर कमेटी को गलत करार दिया है।

मंगलवार को छत्तीसगढ़ भवन में पत्रकारों से चर्चा करते हुए पीसीसी चेयरमैन भूपेश बघेल ने आरोप लगाते हुए कहा कि रमन सरकार ने जोगी को दो बार फायदा पहुंचाया है। पहला यह कि उन्होंने जोगी के खिलाफ जो याचिका लगाई थी, उसे वापस लिया। कोर्ट के आदेश के बाद भी गलत कमेटी गठित कर जोगी को लाभ पहुंचाया है। उन्होंने कहा कि आज हाईकोर्ट के फैसले से यह साबित हो चुका है कि रमन और जोगी के अवैध गठबंधन है। यह अब जनता जान चुकी है। अगले चुनाव में जनता ही उन्हें जवाब देगी। उन्होंने बताया कि बिलासपुर कलेक्टर की याचिका पर हाईकोर्ट ने 2011 में फैसला दिया था कि दो माह में हाईपावर कमेटी गठित करें और दो माह में जाति के मामले में फैसला दें, लेकिन सरकार ने करीब डेढ़ साल बाद हाईपावर कमेटी का गठन किया और इलेक्शन से पहले अप्रैल में कमेटी ने रिपोर्ट सम्मिट की। 18 सितंबर 2013 को सरकार ने यह रिपोर्ट वापस ले ली थी। उस समय जनता रमन और जोगी के संबंध में बारे में नहीं जान रही थी।

जोगी की जीत नहीं, रमन बेनकाब हो गए

एक सवाल के जवाब में पीसीसी चेयरमैन ने कहा कि जोगी कहां जीत हुई है। अब तो भाजपा सरकार और जोगी का गठबंधन उजागर हो गया है। इस मामले में कांग्रेस कोई कदम नहीं उठाएगी। जोगी की जाति के बारे में कोर्ट को फैसला लेना है। उनका कहना था कि अभी जाति के बारे में कोई फैसला नहीं आया है। हाईकोर्ट ने सरकार द्वारा गठित कमेटी को गलत करार दिया है।

रमन हर हद तक जोगी की मदद करेंगे

पीसीसी चेयरमैन भूपेश ने एक सवाल के जवाब में कहा कि रमन सरकार हर हद तक जोगी की मदद करेंगे। गलत तरीके से पुरानी कमेटी गठित की थी। अब नई कमेटी भी सही तरीके से गठित की जाएगी, इस पर संदेह है।

रमेश बैस को निपटाना चाहते हैं…

पीसीसी चेयरमैन ने कहा कि प्रदेश भाजपा में अब सिर्फ रमेश बैस बच गए हैं। वे बाईसर्जरी वाले हैं। सीएम उन्हें कोहनी मारकर निपटाना चाहते हैं।