स्वास्थ्य

सावधान: बटर की जगह स्लो पॉइजन तो घर नहीं ला रहे आप? ऐसे करें असली और नकली मक्खन की जांच…

Caution: Are you bringing slow poison home instead of butter? How to check real and fake butter...

भारतीय खाने में मक्खन बेहतरीन होता है। जी हाँ और गर्मागर्म पराठे पर पिघलता हुआ मक्खन देखते ही सभी के चेहरों पर मुस्कान सी आ जाती है। जी दरअसल मक्खन एक ऐसी चीज है, जिसे आप ब्रेड से लेकर नान तक हर जगह इस्तेमाल कर सकते हैं।

हालाँकि मक्खन एक डेयरी प्रोडक्ट है और इसलिए इसकी क्वालिटी पर अक्सर सवाल उठते रहते हैं। अब अगर हम बात करें हेल्थ एक्सपर्ट्स और विशेषज्ञों की तो उनके मुताबिक मक्खन का जरूरत से ज्यादा सेवन सेहत के लिए हानिकारक हो सकता है। जी हाँ, आज के समय में लोग इस बात का ख्याल नहीं रखते लेकिन यह सच है।

जी दरअसल आज के समय में बाजारों में मिलावटी और नकली प्रोडक्ट बिकने लगे हैं। आप सभी को यह जानकर हैरानी होगी कि बाजार में मक्‍खन के नाम पर मार्जरीन धड़ल्‍ले से बिक रहा हैं। मार्जरीन (Margarine) मक्‍खन की ही तरह दिखने वाला एक डेयरी प्रोडक्ट है, जो पशुओं के दूध से बनाने की जगह जटिल प्रक्रियाओं (Complex Process) के माध्‍यम से बनाया जाता है। जी हाँ और विशेषज्ञों की मानें तो मार्जरीन सेहत के ल‍िए बहुत हानिकारक साबित होता है। इसका सेवन करने से इंसान को कैंसर-डायब‍िटीज जैसी खतरनाक बीमारियां घेर सकती हैं। जी हाँ और यहां सबसे चिंताजनक बात ये है कि मार्जरीन बनाने में पाम ऑयल का इस्तेमाल किया जाता है। ये ऑयल दुनिया के सबसे हानिकारक ऑयल में से एक होता है।

सामने आने वाली मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक ऐसा कहा जाता है कि पाम ऑयल का सेवन करने से इंसान हार्ट अटैक का शिकार हो जाता है। जी हाँ और देशभर में लगातार बढ़ रहे हार्ट अटैक के मामलों में ये भी एक बहुत बड़ा कारण बना हुआ है।

कैसे करें असली और नकली मक्खन की पहचान-

मक्खन की क्वालिटी जांचने के लिए दो कटोरियों में पानी भरें। उसके बाद दोनों में आधा चम्मच मक्खन डालें। अब इसके बाद आयोडीन की दो से तीन बूंदें कटोरे में डालें। ऐसा करने से असली मक्खन का रंग नहीं बदलेगा, लेकिन मार्जरीन के पानी का रंग नीला हो जाएगा।