क्राइमछत्तीसगढ़

बच्चों की जान का दुश्मन कौन,लगातार घटना के बाद पुलिस ने मांगी शिक्षकों से मद्दत

बच्चों की जान का दुश्मन कौन,लगातार घटना के बाद पुलिस ने मांगी शिक्षकों से मद्दत

बिलासपुर. जिला मुख्यालय से महज़ कुछ किलोमीटर के दूरी गांवों में मासूम बच्चों को नशीला चाकलेट और प्रसाद खिलाकर उनकी जान को जोखिम में डालने की सिलसिलेवार घटना के बाद भी पुलिस आरोपियों का सुराग नहीं लगा सकी है। लगातार दो घटनाओं के बाद पुलिस अभी तक जनजागरण और निगरानी ही कर रही है। इसी कड़ी में शुक्रवार को पुलिस अधीक्षक मयंक श्रीवास्तव ने डीईओ के माध्यम से जिले के समस्त प्रथमिक एवं पूर्व माध्यमिक व निजी स्कूलों के प्रधान पाठक ओर प्रचारियो की बैठक बुलाई इस बैठक में अधिकारियों ने मासूम बच्चों को विषक्त चॉकलेट देने को गभीर चिंता जताई ।अभी तक कि घटना में यहां बात सामने आई है कि आरोपी ग्रामीण क्षेत्रों के सक्रिय है। पुलिस उनकी सरगर्मी से तलाश कर रही है।इसके बावजूद भविष्य में ऐसी घटना ना हो इसके लिए सब को सतर्क रहने की जरूरत है।

इसके लिए टीचर्स सभी बच्चों को जागरूक करें बच्चों को स्कूल परिसर से बाहर जाने ना दे कोई अनजान व्यक्ति स्कूल परिसर या स्कूल के आस पास बच्चों को बाठ रहा हो तो उसकी उसकी सूचना पुलिस को दे और ग्रामीणों के मद्दत से उसे पकड़े । शहर के अलावा आसपास के लगे गांवों की पुलिस सुबह से ही स्कूलों के सामने मुस्तैद रही इसके अलावा साइबर सेल को भी शहर के स्कूलों में निगरानी के लिए लगाया गया।

Show More

Related Articles

Back to top button
Close
Close