स्वास्थ्य

कोरोना वैक्सीन को लेकर हेल्थ एक्सपर्ट्स ने लिखा प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को खत, कहा-‘झूठी उम्मीद ना जगाएं…’

कोरोना वायरस को लेकर दिन पर दिन चिंताएं बढ़ती चली जा रही है. इस समय कोरोना की वैक्सीन का ट्रायल भी भारत में जारी है. आपको याद हो तो बीते 15 अगस्त के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा था कि, ‘इस समय भारत में कोराना की एक नहीं बल्कि तीन वैक्सीन की टेस्टिंग जारी है.’ इसके अलावा उस दौरान उन्होंने देश की जनता को यह भी भरोसा दिलाया था कि लोगों को इस साल के अंत तक ये वैक्सीन उपलब्ध करवा दी जाएगी. वहीँ अब भारत के कुछ प्रमुख हेल्थ एक्सपर्ट ने इस बार को खारिज किया है. इन हेल्थ एक्सपर्ट ने पीएम को एक खत लिखा है.

उस खत में उन्होंने कहा है कि ‘वो वैक्सीन को लेकर लोगों को किसी तरह की गलतफहमी में ना रखें.’ जी हाँ, हाल ही में हेल्थ एक्सपर्ट की संयुक्त टास्क फोर्स ने प्रधानमंत्री मोदी को खत लिखा है. इस खत में कहा गया है कि ‘हमें ये मान लेना चाहिए कि कोरोना वायरस की कोई कारगर वैक्सीन जल्द नहीं मिलने वाली है.’ इसी के साथ खत में हेल्थ एक्सपर्ट ने यह भी कहा है कि, ‘कोरोना वायरस की रामबाण दवा लोगों को जल्द मिलेगी, इस उम्मीद से भी बचने की जरूरत है.’

आपको बता दें कि इंडियन पब्लिक हेल्थ एसोसिएशन (IPHA),इंडियन एसोसिएशन ऑफ प्रिवेंटिव एंड सोशल मेडिसिन (IAPSM) और इंडियन एसोसिएशन ऑफ एपिडेमियोलॉजिस्ट (IAE) के विशेषज्ञों ने एक ज्वाइंट स्टेटमेंट जारी किया है. इसी में हेल्थ एक्सपर्ट ने कहा कि, ‘भारत में फैले कोरोना वायरस को काबू में करने के लिए वैक्सीन की कोई भूमिका नहीं है. ये मानना होगा कि फिलहाल आने वाले दिनों में कोई कारगर वैक्सीन नहीं मिलने वाली है. हमें इस तरह के झूठे आश्वासन से बचना चाहिए. जब हमारे पास कारगर और सुरक्षित वैक्सीन उपलब्ध होगी तब उसे WHO की रणनीति की हिसाब से बांटा जाएगा.’

Related Articles

Back to top button
Close
Close