देशस्वास्थ्य

लॉकडाउन की वापसी: Maharashtra के बाद इन राज्यों में लगा नाइट कर्फ्यू, सरकारी और प्राइवेट स्कूल बंद…

एक बार फिर भारत में कोरोना महामारी के बढ़ते मामलों की वजह से राज्य सरकारों की चिंता बढ़ गई है। देश में लगभग ढाई महीने बाद एक दिन में 24 हजार से अधिक नए मामले सामने आए हैं। यह एक दिन में इस साल मरीजों की सर्वाधिक संख्या है। महराष्‍ट्र, पंजाब, केरल, गुजरात, तमिलनाडु और कर्नाटक में सबसे ज्‍यादा मामले सामने आ रहे है।

खाने के साथ दही खाने के फायदे जानकर चौक जायेंगे आप, लेकिन इस बात का रखें विशेष ध्यान…
महाराष्ट्र में एक बार फिर लॉकडाउन की वापसी हो रही है। नागपुर और परभणी में नाइट कर्फ्यू लगाया गया है। राजधानी दिल्ली में भी नए मामलों में इजाफा हो रहा है। वहीं, पंजाब में एक बार फिर स्कूलों को बंद करने का फैसला लिया गया है। महाराष्ट्र में कोरोना का संक्रमण बेकाबू होता दिख रहा है। कोरोना के बढ़ते मामलों के चलते औरंगाबाद, नागपुर, परभणी और पुणे में एक बार फिर लॉकडाउन लगाया गया है। महाराष्ट्र में बीते 24 घंटों के दौरान 15 हजार से अधिक नए केस मिले है।

औरंगाबाद में कोरोना के बढ़ते मामलों को देखते हुए वीकेंड पर पूरी तरह लॉकडाउन लगाया दिया गया है। नागपुर में 15 से 21 मार्च के बीच लाकडाउन लागू रहेगा। इस दौरान निजी कार्यालय बंद रहेंगे जबकि सरकारी दफ्तरों में 25 प्रतिशत कर्मियों के साथ कामकाज होगा। जरूरी सामानों की आपूर्ति करने वाली दुकानें खुली रहेंगी। लॉकडाउन से पहले बाजारों में लोगों की भारी भीड़ देखने को मिल रही है।

पंजाब में भी कोरोना के मामलों में इजाफा हो रहा है। बढ़ते मामलों को देखते हुए राज्य में एक बार फिर स्कूलों को बंद करने का फैसला लिया गया है। 13 मार्च से ये आदेश लागू होगा। इस दौरान 12वीं कक्षा तक के सभी सरकारी और प्राइवेट स्कूलों बंद रहेंगे। दूसरी तरफ लुधियाना, पटियाला, मोहाली और फतेहगढ़ साहिब सहित आठ जिलों में नाइट कर्फ्यू लगाया गया है। यह कर्फ्यू रात 11 बजे से लेकर सुबह पांच बजे तक लागू रहेगा।

मध्य प्रदेश के मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान ने कहा है कि इन दोनों राज्य के कई जिलों में कोरोना वायरस के मामलों में तेजी आ रही है। इसके मद्देनजर रविवार या सोमवार से भोपाल और इंदौर में नाइट कर्फ्यू लगाया जा सकता है। उन्होंने राज्य में कोरोना वायरस स्थिति की समीक्षा करने के लिए शुक्रवार शाम आयोजित एक बैठक के दौरान यह बात कही।

Related Articles

Back to top button
Close
Close
Open chat