देश

स्वदेशी ऐप से डाटा की खपत रह जाएगी आधी, वीडियो कांफ्रेंसिंग के दौरान कूकर की सिटी की आवाज को भी कर सकते हैं फिल्टर…

केंद्रीय सूचना प्रौद्यौगिकी मंत्रालय के ऐप चैलेंज प्रतियोगिता में एक भारतीय आईटी स्टार्टअप ने जूम का बेहतर विकल्प पेश किया...

केंद्रीय सूचना प्रौद्यौगिकी मंत्रालय के ऐप चैलेंज प्रतियोगिता में एक भारतीय आईटी स्टार्टअप ने जूम का बेहतर विकल्प पेश किया। यह ऐप भारतीय जरूरतों को ध्यान में रखकर बनाया गया है। डाटा की खपत के मामले में भी यह किफायती है। मंत्रालय ने जयपुर के सर्व वेब ऐप को वीडियो कांफ्रेंसिंग के लिए बेहतर ऐप मानते हुए 50 लाख का पुरस्कार प्रदान किया। यह मंत्रालय द्वारा चुने गए शीर्ष तीन ऐप में एक है। इस ऐप को जेईएम पोर्टल पर उपलब्ध कराया गया है तथा सरकारी एजेंसियों से इसके इस्तेमाल करने को कहा गया है। मंत्रालय का मानना है कि यह ऐप देश की जरूरतों के हिसाब से अब तक उपलब्ध सभी वीडियो कांफ्रेंसिंग ऐप में बेहतर है।

सर्व ऐप की दो खूबियां हैं। एक इसमें मौजूदा वीडियो कांफ्रेंसिंग ऐप की तुलना में डाटा की खपत 50 फीसदी कम होती है। दूसरे, इसमें शोर को फिल्टर करने की क्षमता है। मसलन, यदि कांफ्रेंसिंग के दौरान पीछे से हॉर्न, कूकर की सिटी या टीवी चलने आदि की आवाज हो तो यह ऐप उन्हें फिल्टर कर लेता है। घनी आबादी वाले क्षेत्रों में इस तरह की समस्याएं आम हैं।

इस ऐप को विकसित करने वाले रमेश चौधरी ने बताया कि अभी एक घंटे की वीडियो कांफ्रेंसिंग में करीब एक जीबी डाटा खत्म होता है, लेकिन इस ऐप से 50 से लेकर 500 एमबी डाटा ही खर्च होगा। दूसरे, इसमें एक नया फीचर ‘नो डाटा मोड’ भी डाला गया है। यदि इसमें चले जाएं तो डाटा महज 50 एमबी ही खर्च होगा। इसमें एक फीचर यह भी है कि प्रेजेंटेशन देने वाले को स्क्रीन शेयर करने की जरूरत नहीं होती है। वह सीधे प्रेजेंटेशन को अपलोड कर सकता है।

टूजी कनेक्टिविटी में यह ऐप बखूबी काम करता है। कमजोर कनेक्टिवटी के कारण यदि आवाज नहीं आ रही हो तो इसमें लोकल नंबरों के जरिये उसे सुनने का भी विकल्प दिया गया है।

रमेश चौधरी ने 2011 में एमटेक करने के बाद स्टार्टअप के रूप में सर्व वेब कंपनी शुरू की थी। जो लगातार नए-नए इनोवेटिव उत्पाद ला रही है। इस ऐप के रूप में उन्होंने चीनी ऐप की चुनौती को टक्कर देने की दिशा में कदम बढ़ाया है। उन्होंने ऐलान किया है कि वह अपने ऐप के विस्तार के लिए किसी प्रकार की विदेशी निवेश नहीं लेंगे।

Related Articles

Back to top button
Close
Close