छत्तीसगढ़देश

छत्तीसगढ़ / आयकर टीम ने अग्रवाल-वाधवानी के पांच लॉकर खोले, एक में मिला आठ लाख कैश

रायपुर |  राजधानी के बड़े कारोबारी अग्रवाल-वाधवानी के यहां आयकर विभाग ने 8 में से पांच लॉकर खोले।  कोलकाता के दो और विशाखापट्टनम के एक लॉकर में विभाग को कुछ भी नहीं मिला है। जबकि रायपुर के एक लॉकर में दो सौ ग्राम से ज्यादा के गहने मिले हैं। गहने तय सीमा के भीतर ही हैं। दूसरे में 8 लाख रुपए कैश मिले हैं। अब रायपुर में मौजूद केवल तीन लॉकर ही खुलने बाकी हैं। सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक इस हफ्ते के अंत तक लॉकरों की जांच पूरी हो जाएगी। सभी लॉकर अलग-अलग नामों से खोले गए थे।

मंगलवार को विभाग की टीम अन्य राज्यों में जांच के दौरान मिले दस्तावेजों को लेने जा सकती है। इस बीच, कारोबारियों के स्टॉक का वैल्युएशन अभी चल रहा है। कारोबारियों से स्टॉक का ब्यौरा मांगा गया है। स्टॉक से जुड़ी जांच अभी 10-12 दिन और चल सकती है। आयकर विभाग ने 56 ठिकानों में छापे के बाद अब तक 2.23  करोड़ रु. कैश और 3.81 करोड़ के गहने जब्त किए हैं। 5 दिन चली छापे की कार्रवाई के दौरान करीब 100 करोड़ की अघोषित कमाई का पता चला था। स्टील और फ्यूल से जुड़े इन कामों में अघोषित कमाई के पुख्ता सबूत भी मिले थे।

स्टॉक का सत्यापन चल रहा : आयकर विभाग ने दोनों कारोबारियों के छत्तीसगढ़ समेत अन्य राज्यों में 17 सितंबर को करीब 56 ठिकानों पर छापे मारे थे। आयकर विभाग की कार्रवाई के दौरान रायपुर में पांच, कोलकाता में दो और विशाखापट्टनम में एक लॉकर मिला था। पिछले हफ्ते विभाग ने कारोबारियों की दो बड़ी फैक्ट्रियों में स्टॉक और दस्तावेजों के सत्यापन से जुड़ी जांच की। सत्यापन का काम अभी भी चल रहा है। दोनों फैक्ट्रियों में स्टॉक बुक में बड़ा अंतर मिला था।

इन शहरों में मिले 8 लॉकर 
रायपुर 05
कोलकाता 02
विशाखापट्टनम01