नगर निगमबिलासपुर

बिलासपुर: बजट होने के बाद भी शहर की सड़कों के गड्ढे नहीं भर रहा PWD, परेशान जनता नगर निगम पर मढ़ती है दोष…

एक साल पहले ही नगर निगम आयुक्त ने पीडब्ल्यूडी के चीफ इंजीनियर को पत्र लिखा था, जिसमें उनकी सारी 29 सड़कों की स्थिति से अवगत कराया गया था...

बिलासपुर। नगर निगम सीमा में पीडब्ल्यूडी की जितनी भी सड़कें हैं, सभी की स्थिति खराब है। हर सड़क पर बड़े-बड़े गड्ढे हो गए हैं, जबकि इन सड़कों की मरम्मत के लिए विभाग के पास 7 करोड़ रुपए से अधिक जमा है। जानकारी के अभाव में पब्लिक अपनी परेशानी का दोषी नगर निगम को ठहराती रहती है।

एक साल पहले ही नगर निगम आयुक्त ने पीडब्ल्यूडी के चीफ इंजीनियर को पत्र लिखा था, जिसमें उनकी सारी 29 सड़कों की स्थिति से अवगत कराया गया था। उन्होंने इन सड़कों की तत्काल मरम्मत करने की गुजारिश की थी, लेकिन पीडब्ल्यूडी ने ध्यान नहीं दिया। नतीजा यह हुआ कि लगातार अतिभारी वर्षा होने के कारण सड़कें और खराब हो गईं। इससे लोग सड़क दुर्घटना के शिकार हो रहे हैं। रात के अंधेरे में आने-जाने में लोगों को परेशानी हो रही है। दूसरी ओर पीडब्ल्यूडी के जिम्मेदार अधिकारी सड़क मरम्मत के लिए ध्यान नहीं दे रहे हैं। इसका खामियाजा आम लोगों को भुगतना पड़ रहा है। कलेक्टर सौरभ कुमार ने भी जिम्मेदार अधिकारियों को जल्द सड़क मरम्मत करने के निर्देश दिए हैं, लेकिन अभी तक काम शुरू नहीं हो सका है। हालात यह है कि उसलापुर ओवरब्रिज के आगे सकरी की ओर वैष्णवी विहार मोड़ के सामने मुख्य मार्ग पर एक लंबा-चौड़ा गड्ढा सुरसा की मुख की तरह बढ़ता जा रहा है। पहले ये छोटा था, लेकिन मरम्मत नहीं होने के कारण ये बढ़ता गया। यही हाल पीडब्ल्यूडी की सभी सड़कों का है। अब स्थिति यह है कि इन गड्ढों से दुर्घटनाग्रस्त होकर दर्जनों लोग चोटिल हो चुके हैं। कोई प्रशासन को कोस रहा है तो कोई जनप्रतिनिधियों को।

मेयर ने चीफ इंजीनियर को लिखा पत्र

मेयर रामशरण यादव ने पीडब्ल्यूडी के चीफ इंजीनियर को पत्र लिखकर इन सड़कोंं की तत्काल मरम्मत करने निवेदन किया है। उन्होंने सभी सड़कों की सूची भी दी है। महापौर यादव का कहना है कि मरम्मत के लिए पर्या’ फंड होने के बाद भी पीडब्ल्यूडी क्रमांक 1 और 2 द्बारा सड़कों का सुधार नहीं करना समझ से परे है। इन सड़कों के गड्ढों में कोई भी नागरिक गिरकर चोटिल होता है तो सारा दोष निगम पर मढ़ा जाता है, जबकि ये सड़कें पीडब्ल्यूडी की हैं।

ये हैं पीडब्ल्यूडी की जर्जर सड़कें

1. जेल पहुंच मार्ग

2. पत्रकार कालोनी पहुंच मार्ग

3. चांटीडीह चिंगराजपारा मार्ग

4. मोपका तोरवा मार्ग

5. नूतन कालोनी पहुंच मार्ग

6. वेयर हाउस पहुंच मार्ग

7. देवकीनंदन चौक से महामाया चौक मार्ग

8. तारबाहर से नगपुरा मार्ग

9. इंदिरा पहुंच मार्ग (नेहरू चौक से महामाया चौक)

10. इंदिरा सेतु पहुंच मार्ग

11. अशाक नगर से आशाबंद मार्ग

12. शनिचरी रपटा से साईंस कालेज पहुंच मार्ग

13. चांटीडीह नगोई बैमा पौंसरा मार्ग

14. डी.पी. वर्मा पहुंच मार्ग (सिम्स से शनिचरी बाजार होते हुए ज्वाली नाला)

15. देहनकर पहुंच मार्ग (मानसरोवर लॉज से सी.एम.डी. चौक)

16. दयालबंद से लिंगियाडीह होते हुए बसंत विहार मार्ग

17. बिलासपुर सीपत मार्ग

18. बिलासपुर पासीद मार्ग

19. महामाया मार्ग से कोनी मार्ग

20. श्रद्घानंद पहुंच मार्ग (शा.कन्या महाविद्यालय से राजीव गांधी चौक)

21. टेलीफोन एक्सचेंज पहुंच मार्ग (आयोजना अंतर्गत स्वीकृत) (संजय तरण पुष्कर से मंदिर चौक इंंदू चौक अग्रसेन चौक)

22. लिंक रोड पहुंच मार्ग (राजेन्द्र नगर चौक से तारबाहर चौक)

23. कुदुदण्ड मंगला मार्ग (नेहरू चौक से मंगला चौक तक)

24. गांधी चौक से तारबाहर चौक तक

25. गुरुनानक चौक से पावर चौक तक

26. एन.एच.130ए नेहरू चौक से उस्लापुर पुल तक

27. एन.एच. 130 तिफरा ओवर ब्रिज से नहरू चौक तक

28. पेण्ड्रीडीह से नेहरू चौक मार्ग

29. नेहरू चौक से दर्रीघाट मार्ग

Leave a Reply

Your email address will not be published.