क्राइम

पुलिस ने 8 वर्षीय बच्चे पर दर्ज किया केस, हथियार के साथ इंटरनेट मीडिया पर अपलोड की थी फोटो…

8 साल के बच्चे पर मामला दर्ज किया गया। बच्चे के पिता भूपिंदर सिंह ने बंदूक के साथ खड़े बेटे और कंधों पर गोलियों की बेल्ट डाले हुए एक फोटो अपने फेसबुक प्रोफाइल पर...

पंजाबी सिंगर सिद्धू मूसेवाला की हत्या के बाद से राज्य सरकार पंजाब में गन कल्चर पर और भी सख्त रुख इख्तियार कर रही है। इसका एक नजारा शुक्रवार को देखने को मिला जब एक 8 वर्षीय लड़के पर पुलिस ने FIR दर्ज की। मामला पंजाब के अमृतसर का है। यहां के एक 8 साल के बच्चे ने हथियार पकड़े हुए एक तस्वीर सोशल मीडिया पर अपलोड की थी। जिसके बाद पुलिस ने सख्त एक्शन लेते हुए लड़के के खिलाफ केस दर्ज किया है। पंजाब में इस तरह का ये पहला मामला है। नाबालिग होने के चलते अमृतसर ग्रामीण पुलिस अभी केस के बारे में अतिरिक्त जानकारी नहीं दे रही। वहीं पुलिस ने बच्चे के साथ-साथ उसके पिता और दो अन्य के खिलाफ भी गन कल्चर को प्रमोट करने पर मामला दर्ज किया है।

पुलिस के साइबर सेल की नजर में आई थी तस्वीर

 

यह केस थाना कत्थूनंगल का है जहां 8 साल के बच्चे पर मामला दर्ज किया गया। बच्चे के पिता भूपिंदर सिंह ने बंदूक के साथ खड़े बेटे और कंधों पर गोलियों की बेल्ट डाले हुए एक फोटो अपने फेसबुक प्रोफाइल पर लगाई थी। जिसके बाद पुलिस की साइबर सेल की नजर इस फोटो पर पड़ी। छानबीन के बाद पुलिस ने बच्चे, उसके पिता भूपिंदर का पता लगाया। इसी मामले में दो अन्य विक्रमजीत व विसारत के खिलाफ भी केस दर्ज किया गया है। पुलिस का कहना है कि आरोपियों के खिलाफ कानून के मुताबिक कार्रवाई की जा रही है।

कांस्टेबल पर भी हुआ था केस

बता दें कि अमृतसर में सबसे पहला मामला पुलिस ने अपने ही कांस्टेबल के खिलाफ दर्ज किया था। कांस्टेबल दिलजोध सिंह भी कत्थूनंगल थाने में तैनात थे, जहां अब नाबालिग के खिलाफ मामला दर्ज किया गया। दिलजोध वीडियो में पार्टी में नाचते हुए फायरिंग कर रहे थे। मुख्यमंत्री की तरफ से गन कल्चर के खिलाफ कार्रवाई करने के आदेशों के बाद से ही पंजाब में ऐसे कई केस दर्ज हो चुके हैं।

9 दिन में करीब 900 हथियारों के लाइसेंस रद्द

पुलिस प्रशासन ने हथियारों की समीक्षा करने के बाद 9 दिन में करीब 900 हथियारों के लाइसेंस रद्द कर दिए हैं जबकि 300 से ज्यादा लोगों के हथियारों के लाइसेंस सस्पेंड कर, उन्हें कारण बताओ नोटिस जारी किया गया है। पंजाब के डीजीपी गौरव यादव ने कहा है कि हथियारों को इंटरनेट मीडिया पर प्रमोट करने वालों के खिलाफ भी अभियान शुरू कर दिया गया है। कोई भी कानून से ऊपर नहीं है जो भी नियमों को तोड़ेगा उसके खिलाफ मामला दर्ज होगा चाहे वह कोई भी हो ।

error: Content is protected !!