बिलासपुर

बिलासपुर: गौ सेवा आयोग अध्यक्ष राजेश्री महंत डॉ राम सुंदर दास शहर में, कांग्रेस नेता रेखेंद्र तिवारी के निवास पहुंचे…

कांग्रेस नेता प्रभारी आर्यव्रत ब्राम्हण समाज रेखेंद्र तिवारी के टिकरापारा निवास पहुंचे, जहां समाज से संबंधित सामाजिक चर्चा हुई और गौवंश की रक्षा का संकल्प लिया गया। इसके बाद गौसेवा आयोग के

बिलासपुर। छत्तीसगढ़ सरकार के द्वारा गौ संरक्षण के क्षेत्र में भारत वर्ष के अन्य सभी राज्यों की सरकार से अपेक्षाकृत काफी अच्छा कार्य किया जा रहा है। इसमें जनजागृति बहुत आवश्यक है। आप सभी मिलकर सहयोग करें निश्चित तौर पर गौ माता का संरक्षण यहां बेहतरीन तरीके से हो रही है। यह बातें छत्तीसगढ़ राज्य गौ सेवा आयोग के अध्यक्ष राजश्री महन्त डॉ रामसुन्दर दास ने कांग्रेस नेता रेखेंद तिवारी के निवास पहुंचे और पत्रकारों से चर्चा के दौरान कही।

गौसेवा आयोग के अध्यक्ष महामंडलेश्वर राजेश्री डॉ. महंत राम सुंदर दास आज विप्र समाज की बैठक में कांग्रेस नेता प्रभारी आर्यव्रत ब्राम्हण समाज रेखेंद्र तिवारी के टिकरापारा निवास पहुंचे, जहां समाज से संबंधित सामाजिक चर्चा हुई और गौवंश की रक्षा का संकल्प लिया गया। इसके बाद गौसेवा आयोग के अध्यक्ष रेखेंद्र तिवारी और अन्य समाज के लोगों के साथ दीपका स्थित आर्यव्रत ब्राम्हण समाज के कार्यक्रम में सम्मिलित होने रवाना हुए।

दरअसल बिलासपुर पहुंचे राज्य गौसेवा आयोग के अध्यक्ष महामंडलेश्वर राजेश्री डॉ. महंत राम सुंदर दास ने पत्रकारों से चर्चा के दौरान गौवंश को लेकर कहा की हमारे देश में और सनातन धर्म में गौवंश को गौ माता की तरह पूजा जाता है। एक गौमाता में तैतीस कोटी देवी देवताओं का वास है, यदि हम एक गौ सेवा कर लिए तो समस्त देवी देवताओं की पूजा हो जाती है।

भूपेश सरकार द्वारा प्रदेश में बनाए गए गौठान पर कहा की सीएम द्वारा बनवाए गए गौठान में गौवंश संरक्षित और सुरक्षित है। अपने विचार व्यक्त करते हुए राजेश्री महन्त जी महाराज ने कहा कि गौ माता की संरक्षण के क्षेत्र में छत्तीसगढ़ सरकार के द्वारा बहुत अच्छा कार्य किया जा रहा है। मुख्यमंत्री भूपेश बघेल की सरकार विश्व की एकमात्र ऐसी सरकार है जो गौ माता की संरक्षण एवं संवर्धन के लिए दो रूपय किलो में गोबर और चार रूपये लीटर में गोमूत्र खरीदी कर रही है।

वहीं सड़कों पर मवेशियों की वजह से हो रही दुर्घटनाओं और मौतों पर कहा की इस पर आयोग बहुत ही गंभीर रूप से संज्ञान ले रहा है साथ छत्तीसगढ़ हाइकोर्ट द्वारा सड़को पर मवेशियों को छोड़े जाने पर उसके मालिकों के ऊपर कानूनी कार्रवाई की बात कही गई है, जिससे भी गौवंश की रक्षा होगी।