बिलासपुर

कांग्रेस नेता वा कॉलोनाइजर ब्रजेश साहू से एक परिवार में दहशत, मां-बेटा का आरोप बेशकीमती जमीन हड़पने की हो रही साजिश…

पत्रकारों को बताया कि बृजेश साहू और रवि मिश्रा के द्वारा किए गए इस कृत्य को लेकर जब विरोध किया गया तो कुछ गुंडे आकर उन्हें जान से मारने की धमकी दे रहे हैं और वे दोनों काफी

बिलासपुर। नंदेश्वर मंदिर चांटीडीह निवासी कमला गडरिया और उनके पुत्र प्रदीप पाली ने रविवार को बिलासपुर प्रेस क्लब में पहुंचकर कॉलोनाइजर और भूमाफियाओं द्वारा खुद की जमीन पर कब्जा किए जाने की पीड़ा बताई।

उन्होंने बताया वर्षों पुरानी उनकी हक और स्वामित्त्व की भूमि मौजा खमतराई पटवारी हल्का नंबर 25 राजस्व निगम मंडल कोनी में स्थित है। खसरा नंबर 971/7 कुल रकबा 1 एकड़ भूमि जो समस्त राजस्व प्रपत्र में उनके नाम पर ही दर्ज है। उस भूमि पर सीमेंट का खंबा और तार के जरिए घेराबंदी कराया गया था जिसे अनधिकृत रूप से कांग्रेस नेता व कॉलोनाइजर बृजेश साहू और रवि मिश्रा के द्वारा उखाड़ कर फेंक दिया गया है।

पीड़ित मां और बेटे ने पत्रकारों को बताया कि बृजेश साहू और रवि मिश्रा के द्वारा किए गए इस कृत्य को लेकर जब विरोध किया गया तो कुछ गुंडे आकर उन्हें जान से मारने की धमकी दे रहे हैं और वे दोनों काफी डरे सहमे हुए हैं। उन्होंने बताया कि उनके पिता / पति का निधन हो चुका है और परिवार में केवल दो ही प्राणी है। गुंडों की धमकी से वे दहशत में हैं। उन्हें हर पल अपनी जिंदगी पर खतरा मंडराता नजर आता है। पीड़ित परिवार ने बताया कि जब गुंडे उनके खंबे और तार को हटा रहे थे तो इसकी सूचना सरकंडा थाने में दी गई थी मगर कोई कार्यवाही नहीं हुई।

इसके अलावा एसडीएम बिलासपुर को भी इस बारे में अवगत कराया गया था तो उन्होंने मामला पुलिस का है कहकर पुलिस के पास भेज दिया। आर आई छतलाल कश्यप कांग्रेसी बिल्डर के दबाव में हैं जिसकी वजह से उनकी जमीन का तीन बार समय देने के बाद भी सीमांकन नहीं किया जा रहा है। उन्होंने यह भी बताया कि उनकी भूमि को नक्शे में दूसरी जगह बैठा दिया गया है और उनकी वास्तविक भूमि को हड़पने का प्रयास किया जा रहा है। उन्होंने जिला और पुलिस प्रशासन से इस मामले में मदद की गुहार लगाई है।