Advertisement
बिलासपुरहादसा

बिलासपुर: पानी से भरे अवैध मुरूम खदान में डूबकर दो बच्चों की मौत, गहराई होने के कारण गई दोनों की जान…

सरकंडा क्षेत्र के बहतराई-बिजौर के बीच मुरुम खदान में डूबकर टिकरापारा और लिंगियाडीह में रहने वाले दो बच्चों की मौत हो गई है। दोनों बच्चों के शव निकालकर

बिलासपुर। सरकंडा क्षेत्र के बहतराई-बिजौर के बीच मुरुम खदान में डूबकर टिकरापारा और लिंगियाडीह में रहने वाले दो बच्चों की मौत हो गई है। दोनों बच्चों के शव निकालकर परिजनों ने सिम्स पहुंचाया है। साथ ही घटना की सूचना पुलिस को दी गई है। इस पर पुलिस ने शव कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम के लिए अस्पताल में रखवा दिया है। आज को परिजनों से पूछताछ कर घटना की जानकारी ली जाएगी।

दरअसल बहतराई-बिजौर के बीच मुरुम खदान में दो बच्चों के डूबने की सूचना मिली। रविवार की शाम टिकरापारा में रहने वाले रवि अहिरवार का 12 वर्षीय बेटा अभिषेक रिश्तेदार के घर लिंगियाडीह आया था। यहां से वह दिलीप अहिरवार के बेटे ईशान (12) के साथ घूमने के लिए निकला। इसके बाद परिजन को पता चला कि दोनों बालक बहतराई और बिजौर के बीच मुरुम खदान में डूब गए हैं।

इस पर परिजन आनन-फानन में वहां पहुंचे। उन्होंने गहरे पानी से दोनों बच्चों को बाहर निकाला। दोनों बच्चों को परिजन सिम्स लेकर गए। अस्पताल में जांच के बाद दोनों को मृत घोषित कर शव पोस्टमार्टम के लिए भेज दिया। घटना की सूचना पर सरकंडा पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है। सोमवार की सुबह शव का पीएम कराया जाएगा। साथ ही परिजनों से पूछताछ कर घटना की जानकारी ली जाएगी।

अवैध घाट बने जानलेवा

बीते 17 जुलाई को ग्राम सेंदरी में तीन बहन नहाने के लिए अरपा नदी गई थीं। यहां अवैध रेत घाट में बने डूबने से तीनों बहनों की मौत हो गई। इसे लेकर काफी बवाल मचा था। गुस्साए ग्रामीणों ने शव को सड़क पर रखकर चक्काजाम कर दिया था। आनन-फानन में पुलिस और जिला प्रशासन के अधिकारी मौके पर पहुंचकर ग्रामीणों को शांत कराया। अवैध रेत घाट के अलावा अवैध मुरुम घाट भी जानलेवा साबित हो रहे हैं। बिलासपुर शहर से लगे अशोक नगर मुरुम खदान, चकरभाठा, बिल्हा, कोटा, बेलगहना के मैदानी इलाके में जहां मुरुम का खदान है। गहरे गड्ढे बन गए हैं। गड्ढे ऐसे कि दूर से देखने पर तालाब का नजर आता है।

कांग्रेस नेता के खिलाफ अब तक कार्रवाई नहीं

मृत बच्चियों के स्वजन और ग्रामीणों ने आरोप लगाया था कि कांग्रेस नेता राजेंद्र साहू और उनके रिश्तेदार नदी से लगातार रेत का अवैध उत्खनन कर रहे हैं। घटनास्थल पर मौजूद ग्रामीणों ने अधिकारियों से इसकी शिकायत कर कार्रवाई की मांग की थी। इसके बाद भी अब तक इस ओर ध्यान नहीं दिया जा रहा है।

error: Content is protected !!