कांग्रेस

बेरोजगारी और जीडीपी को लेकर राहुल गांधी का केंद्र पर तीखा वार, बोले- मोदी के कारण देश को रही बड़ी दिक्कतें…

कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष और वायनाड से सांसद राहुल गांधी बेरोजगारी, गिरती जीडीपी, कोरोना संकट जैसे तमाम मुद्दों पर केंद्र सरकार निशाना साधा है। एक बार फिर ट्वीट के जरिए उन्होंने प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर निशाना साधा है। उन्होंने ट्वीट कर कहा कि भारत मोदी निर्मित आपदाओं से जूझ रहा है।

राहुल गांधी ने क्या ट्वीट किया है?

जानकारी के अनुसार राहुल गांधी ने 5 प्वाइंट में अपने ट्वीट में लिखा, “देश की अर्थव्यवस्था में 23.9 प्रतिशत की ऐतिहासिक भारी गिरावट आयी है। देश में 45 सालों की सबसे अधिक बेरोजगारी है। 12 करोड़ लोगों की नौकरी जा चुकी है। केंद्र सरकार राज्यों को जीएसटी बकाया नहीं चुका पा रहा है। दुनिया में सबसे अधिक कोरोना संक्रमण और मौत के मामले भारत में आ रहे हैं। वहीं देश की सीमा पर बाहरी आक्रमण हो रहा है।

कोरोना महामारी के बीच देश की अर्थव्यवस्था में चालू वित्त वर्ष 2020-21 की अप्रैल-जून तिमाही में 23.9 प्रतिशत की भारी गिरावट आयी है। राष्ट्रीय सांख्यिकी कार्यालय ने पहली तिमाही के सकल घरेलू उत्पाद (जीडीपी) के ताजा आंकड़े जारी किए। इन आंकड़ों में जीडीपी में भारी गिरावट दिखी है। सकल घरेलू उत्पाद में इससे पिछले वर्ष 2019-20 की इसी तिमाही में 5.2 प्रतिशत की वृद्धि हुई थी।

GDP पर सुरजेवाला का तंज

बेरोजगारी और गिरती जीडीपी जैसे मुद्दों पर कांग्रेस पार्टी लगातार मोदी सरकार को हाडे हाथ लिया हैं। आज ही कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेलवाला ने भी कई ट्वीट करते हुए मोदी सरकार को घेरा। सुरजेवाला ने कहा, “आम आदमी शायद GDP का वित्तीय प्रभाव तो नही जानता, पर यह जरूर समझता है कि मजदूरों के मुंह का निवाला छीनना जुल्म है। लोगों का नंगे पांव चलना और बसों का खाली खड़े रहना पाप है। मंगलयान चलाने वाले देश में एक लड़की का कई सौ किलोमीटर पिता को साइकिल पर ले जाना बेबसी है।

सुरजेवाला ने आगे लिखा, आम आदमी यह जरूर समझता है कि सुरक्षा उपकरण मांगने पर डॉक्टरों के ट्विटर अकाउंट डिलीट करा देना तानाशाही है। जब जांच की सबसे ज्यादा जरूरत हो तब ध्यान भटकाने के लिए दिए जलवाना और आतिशबाजी करवाना जबरदस्ती है।

फेसबुक विवाद पर राहुल गांधी ने मोदी सरकार पर फिर साधा निशाना, कहा- लोकतंत्र के साथ नहीं करने देंगे खिलवाड़…

Related Articles

Back to top button
Close
Close
Open chat