अन्य

होटल मेरियॉट में कब्जे के लिए जूझ रहे है पीएनबी के अधिकारी

पुलिस की समझाईश लगातार जारी

बिलासपुर। बहुचर्चित 36 सिटी मॉल में पंजाब नेशनल बैंक का कब्जा परन्तु कोर्टियात मेरियट में कब्जे के लिए पीएनबी के अधिकारी उपस्थित कोर्टियाट के स्टाफ से दोनों हाथ जोड़कर पजेशन लेने के लिए निवेदन कर रहे है। जबकि मौजूदा स्टाफ के द्वारा कब्जा देने में स्वमं को अक्षम बताया जा रहा है। जिसके चलते पजेशन लेने में मशक्कत करनी पड़ रही है। मामले में सिविल लाइन थाने के टीआई नसर सिद्दीकी वा पुलिस के जवानों को उपस्थित में होटल के मालिक के आने के बाद कब्जे में देने की बात की गई हैं।

मालूम हो कि मेसर्स सिटी माल विकास प्रा. लि. की ओर से संजय गुप्ता पिता के. के. गुप्ता, पिंकी गुप्ता और नीलम गुप्ता के नाम पर पंजाब नेशनल बैंक कटोरा तालाब से 120 करोड़ का लोन लिया गया था। जिसकी एक भी किश्त जमा नहीं की गई थी। मामले में बिलासपुर हाई कोर्ट नें पिछले 31 अगस्त को सरफेसी एक्ट के तहत सिटी माल का कब्जा पंजाब नेशनल बैंक को दिलाने का आदेश दिया था।

 इसके आधार पर तहसीलदार बिलासपुर ने पिछले 2 सितंबर  को कब्जा दिलाने का आदेश जारी कर दिया था। इसके लिए 7 सितंबर को सुबह 11 बजे का वक्त मुकर्रर किया गया था। पंजाब नेशनल बैंक को 7 सितंबर को समय पर मौजूद रहने कहा गया था। लेकिन 7 सितंबर को माल का कब्जा पीएनबी को नहीं सौंपा जा सका था। जबकि  प्रशासन ने पटवारी के जरिए पीएनबी को एक मेमो थमा दिया था। इस मामले में प्रशासन ने कोर्टियाट के बाहर अधिकृत चस्पा कर पीएनबी को कब्जा होना बताया है पर इस के विपरीत बैंक के अधिकारियों होटल के कर्मचारियों से हाथ जोड़ के विनती करते नजर आ रहे है।

 जिसके बाद मामले में दोनों पक्षो को समझाईश देनें एवं समझौते के उद्देश्य को ध्यान में रखते हुए सिविल लाइन थाना प्रभारी और थाना स्टाफ की मौजूदगी में न्यायालय के आदेश का पालन करने के लिए कोर्टियाट स्टाफ की ओर से पीएनबी को पजेशन देने के लिए समझाइश दी गई ।

Leave a Reply

Your email address will not be published.