छत्तीसगढ़दुनियादेशबिलासपुरस्वास्थ्य

कैसे जाने शहद असली हैं या नकली

शहद बहुत ही फायदेमंद चीज होती हैं. अलग अलग जगहों पर इसका अलग अलग उपयोग होता हैं. आजकल बाजार में कई ब्रांड्स के शहद उपलब्ध हैं. ऐसे में यह पहचान पाना मुश्किल हो जाता हैं।

किस ब्रांड का शहद असली हैं और किस ब्रांड का नकली. इसी बात को ध्यान में रखते हुए हम आपको कुछ तरीकें बताएंगे जिसकी सहायता से आप असली और नकली शहद में अंतर कर सकेंगे.

पेपर टेस्ट: कागज़ की एक शीट पर शहद की कुछ बूँदें डाल कर उसे कुछ देर के लिये छोड़ दें. अगर शहद असली होगा तो वह कागज गिला नहीं करेगा जबकि यदि शहद नकली हुआ तो वो कागज़ को गीला कर देगा. इसका कारण यह हैं कि असली शहद में नमी बिलकुल भी नहीं होती है ।

पानी से पहचानें: असली शहद कभी भी पानी में आसानी से नहीं घुलता हैं जबकि नकली शहद पानी में घुल जाता हैं. यदि आप असली शहद को पानी में डालेंगे तो वह निचे तली में आकर बैठ जाएगा. जबकि नकली शहद के साथ ऐसा नहीं होगा.

ऊँगली से पहचान: थोड़ा सा शहद लेकर उसे अपने अंगूठे और बीच की ऊँगली से रगड़े. कुछ देर ऐसा करने से आप पाएंगे कि शहद की कुछ मात्रा आपकी त्वचा ने सोख ली हैं. यदि बचा हुआ शहद आपकी उंगली को चिपचिपा नहीं करता तो वह शहद असली हैं. वही नकली शहद में शुगर मिली होने के कारण वह आपकी उंगली को चिपचिपा बना देता हैं.

क्रिस्टलीकरण टेस्ट: मधुमक्खियाँ शहद में ऐसे एंजाइम डालती हैं जिससे उसमें से लगातार पानी अलग होता रहता है. इसलिए जब भी आप शहद को किसी बोतल में रखते हैं वह और गाढ़ा होकर बोतल की तली में जाकर चिपक जाता है. एंजाइम के लगातार काम करते रहने से असली शहद जब भी स्टोर किया जाता है वो और गाढ़ा हो जाता है. जबकि नकली या मिलावटी शहद के साथ ऐसा नहीं होता है. इस तरह से आप इन दोनों के बीच आसानी से पहचान कर सकते हैं.