देशपुलिस

देश की पहली ‘बुद्धिमान’ रिवॉल्वर तैयार…जानें खासियतें और कब होगी सप्लाई…

आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस से लैस देश की पहली रिवाल्वर फील्ड गन फैक्ट्री में तैयार हो गई है। अगस्त से इसकी सप्लाई शुरू हो जाएगी। तमाम खूबियों से लैस इस रिवाल्वर का होलिस्टर भी बुद्धिमान होगा, जो केवल मालिक को ही रिवाल्वर निकालने की इजाजत देगा। इसे कानपुर के दो युवा वैज्ञानकों के साथ मिलकर तैयार किया गया है। बुधवार को फील्ड गन फैक्ट्री के वरिष्ठ महाप्रबंधक अनिल कुमार ने बताया कि ऐसा होलिस्टर (रिवाल्वर का कवर) तैयार किया गया है जो बिना मालिक के फिंगर प्रिंट के नहीं खुलेगा। यानी, आपका रिवाल्वर अगर होलिस्टर सहित किसी ने छीन लिया या चोरी कर लिया तो वह इसका इस्तेमाल नहीं कर पाएगा। इतना ही नहीं आपकी रिवाल्वर की जीपीएस मानीटरिंग की जा सकेगी। पुलिस-प्रशासन मोबाइल पर ही रिवाल्वर से निकली गोलियों तक की गणना कर सकेंगे।

रिवाल्वर के अनाधिकृत प्रयोग की वजह से लगातार बढ़ती घटनाओं पर लगाम लगाने का काम ‘कवच’ करेगा। अभी तक रिवाल्वर में दो तरह के सेफ्टी फीचर होते हैं। एक-स्प्रिंग के जरिए लॉक करने का। दूसरा-नंबर कोड, जैसा सूटकेस आदि में होता है। अब फील्ड गन ने तीसरा सेफ्टी फीचर ईजाद किया है, जो आर्टिफिशियल इंटेलिजेंस से लैस है। ये विशेष हाईटेक कवर है, जो अपने मालिक का फिंगरप्रिंट पहचानने के बाद ही रिवाल्वर को कवर से बाहर निकालेगा। दुनिया के अनोखे कवर को दो युवा वैज्ञानिकों सौरभ पिलानिया और गौरव पिलानिया के साथ फैक्ट्री ने संयुक्त रूप से तैयार किया है। इसे पूरी तरह से स्वदेशी तकनीक पर तैयार किया गया है। इसके डिजायन और टेक्नोलाजी को सौ फीसदी कानपुर में तैयार किया गया है। इसे पिस्टल, शॉटगन और अन्य छोटे हथियारों के लिए लाया जाएगा। अगर हथियार बायोमीट्रिक लॉक में है तो उसे कोई दूसरा नहीं छू पाएगा।

चिप के जरिए हो सकेगी मॉनिटरिंग

वरिष्ठ महाप्रबंधक ने बताया कि रिवाल्वर के लिए एक खास चिप को डेवलप किया गया है, जिससे हथियार का पूरा ब्योरा पता चल जाएगा। इस रिवाल्वर से फायरिंग कब हुई और कहां हुई, ये भी पता चल जाएगा। यहां तक कि एक-एक गोली का हिसाब-किताब भी आपको मिल जाएगा। ऐसी सेंसर आधारित टेक्नोलाजी ईजाद की है कि रिवाल्वर से गोली निकलने के दौरान होने वाले कंपन का अध्ययन कर सेंसर बता देंगे कि आपकी रिवाल्वर में कहां खराबी आ रही है। उन्होंने बताया कि रिवाल्वर की चिप का लिंक पुलिस-प्रशासन के पास रहने का सिस्टम रहेगा। रिवाल्वर का कंट्रोल लिंक भी निगरानी में रहेगा। इस फीचर से अवैध कारतूसों के प्रयोग पर लगाम लगेगी। इसे थ्री डी प्रिंटिंग टेक्नोलाजी से तैयार किया गया है। मेंटीनेंस नजदीक आने पर कवर सर्विस अलार्म देगा।