छत्तीसगढ़नक्सली

छत्तीसगढ़ / नक्सलियों ने पुल को उड़ाने के लिए पिलर काटकर लगाया 60 किलो का आईईडी, छिपाने के लिए किया प्लास्टर

कटेकल्याण-दंतेवाड़ा मुख्य मार्ग पर जवानों ने भारी मात्रा में बरामद किया विस्फोटक, 20 मीटर लंबे तार से जोड़ा गया था

विस्फोट से कई वाहनों को उड़ाने की थी क्षमता, विस्फोटक भरे पैकटों पर तेलंगाना की कंपनी का नाम है दर्ज 

दंतेवाड़ा. छत्तीसगढ़ के दंतेवाड़ा में उपचुनाव के परिणामों से ठीक एक दिन बाद शनिवार को जवानों ने भारी मात्रा में विस्फोटक बरामद किया है। विस्फोटक को पुल के अलग-अलग पिलर को काटकर लगाया गया था। इसके बाद छिपाने के लिए ऊपर से प्लास्टर किया गया था। यह विस्फोटक इतना शक्तिशाली है कि ऊपर से निकलने वाले तीन-चार भारी वाहनों को उड़ा सकता था। बरामद विस्फोटक करीब 60 किलो का आईईडी है। आईईडी बरामद होने की पुष्टि एसपी अभिषेक पल्लव और सीआरपीएफ डीआईजी डीएन लाल ने की है।

जहां विस्फोटक बरामद हुआ, वहां से पूर्व सीएम रमन सिंह को सभा करने जाना था

  1. जानकारी के मुताबिक, मेटापाल क्षेत्र में नक्सलियों की संदिग्ध गतिविधियों को लेकर कई दिनों से पुलिस और सीआरपीएफ को जानकारी मिल रही थी। इसको लेकर जवान लगातार सर्चिंग भी कर रहे थे। हालांकि अंदेशा था कि चुनाव के दौरान नक्सली किसी वारदात को अंजाम दे सकते हैं। इस बीच शनिवार को कटेकल्याण-दंतेवाड़ा मुख्य मार्ग पर मेटापाल-गाटम के बीच नदी के ऊपर बने पुल के नीचे कुछ संदिग्ध होने की सूचना सामने आई। इस पर जवानों को भेजकर सर्चिंग की गई तो आईईडी विस्फोटक का पता चला।
  2. विस्फोटक को करीब 20 मीटर लंबे तार से पुल के पिलर को काटकर लगाया गया था। इसके बाद छिपाने के लिए उस पर प्लास्टर भी किया गया। इस आईईडी विस्फोटक में जिलेटिन की छड़ों सहित अन्य सामान बरामद हुआ है। एसपी अभिषेक पल्लव ने बताया कि चुनाव के दौरान ही पूर्व सीएम रमन सिंह मेटापाल में सभा करना चाहते थे, लेकिन सड़क मार्ग से आने के कारण उन्हें सुरक्षा कारणों से मना कर दिया गया। इसके बाद मुख्यमंत्री भूपेश बघेल ने वहां हेलीकाप्टर से पहुंच कर सभा की थी। तब इस बात को लेकर काफी विवाद भी हुआ था।