राजनीति

मुख्यमंत्री भूपेश बोले: ’15 से 14 हो गए, 2023 में पता नहीं कितने हो जाएंगे’, डॉ. रमन सहमत तो उनके नाम पर एक चौक रख सकते हैं…

छत्तीसगढ़ में 2023 में भारतीय जनता पार्टी की सरकार बनने के पूर्व मुख्यमंत्री डॉ. रमन के दावे पर सीएम भूपेश बघेल ने तंज कसते हुए कहा कि रमन सिंह जी दिवास्वप्न देख रहे हैं। 15 से 14 हो गए हैं। 2023 के विधानसभा चुनाव में पता नहीं कितने हो जाएंगे। उनके कार्यकाल में छत्तीसगढ़ के महापुरुषों का अपमान हुआ। वे महापुरुषों की बात भी नहीं करते थे। हमने सारे सड़कों और चौक-चौराहों के नाम महापुरुषों के नाम पर किया है। अटल जी जीवित थे, तब अटल चौक बनाए थे। हमने राजा नरेशचंद्र से लेकर पूर्व मुख्यमंत्री अजीत जोगी तक चौक-चौराहों और सड़कों का नामकरण किए हैं।

रायपुर में भूपेश बघेल ने कहा कि रमन सिंह भी पूर्व मुख्यमंत्री हैं। यदि रमन सिंह सहमत हैं तो उनके नाम से एक चौक को रख सकते हैं। राष्ट्रपति चुनाव में एनडीए उम्मीदवार द्रौपदी मुर्मू के समर्थन और आदिवासियों की बात पर भूपेश ने कहा कि आदिवासियों के हितों से कुठाराघात करने में भारतीय जनता पार्टी और केंद्र सरकार कोई कोर कसर नहीं छोड़ रही है। ऐसे में ये लोग आदिवासी हितों की बात कहते हैं, जबकि उन्हें नुकसान पहुंचाने के सारे प्रावधान किए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि आत्मा की आवाज पर वोट देना है तो उनके पुराने साथी और हमारे विपक्ष के यूपीए प्रत्याशी यशवंत सिन्हा के पक्ष में भारतीय जनता पार्टी को वोट करना चाहिए।

8 साल में कितने रोजगार दिए, सूची जारी करें

युवाओं को रोजगार के मुद्दे पर भूपेश बघेल ने केंद्र की मोदी सरकार पर निशाना साधते हुए कहा कि पिछले 8 साल से सेंट्रल में उनकी सरकार है। कितने लोगों को रोजगार दिया सूची जारी करें। उनके कार्यकाल में कितने लोग बेरोजगार हुए हैं, उसकी भी सूची जारी करें। उन्होंने तंज कसते हुए कहा कि केंद्र सरकार बताए कि अग्निवीर, चिकित्सावीर, शिक्षावीर और क्या-क्या वीर बनाएंगे। गुजराज चुनाव पर बघेल ने कहा कि उन्हें अच्छी सफलता की उम्मीद है। प्रदेश में संगठन चुनाव, पार्टी विस्तार और बूथ लेवल तक संगठन को मजबूत करने पर पार्टी पदाधिकारियों द्वारा काम करने की बात उन्होंने कही।