राजनीति

बीजेपी नेता पर शराब तस्करी के आरोप, पार्टी ने बताया साजिश, कांग्रेस बोली, शराब तस्कर को बचा रही भाजपा…

गिरफ्तारी के बाद अब कांग्रेस और बीजेपी आमने सामने हैं. गुरुवार रायपुर जिला बीजेपी कार्यालय में प्रदेश प्रवक्ता केदार गुप्ता ने जयराम दुबे को रिहा करने...

बीजेपी नेता जयराम दुबे (BJP Leader Jairam Dubey) छत्तीसगढ़ की सियासत (Chhattisgarh Politics) का केंद्र बन गए हैं. राजनांदगांव पुलिस (Rajnandgaon Police) ने शराब तस्करी मामले (Liquor Smuggling Case) में जयराम दुबे को गिरफ्तार किया है. जयराम की गिरफ्तारी का असर राजधानी रायपुर में देखा गया. गुरुवार को कांग्रेस (Congress) प्रेस कांफ्रेस कर जयराम दुबे को बीजेपी (BJP) से निकालने की मांग की. जवाब में बीजेपी ने भी प्रेस कांफ्रेस कर जयराम का बचाव किया और कांग्रेस पर शराब तस्करी के आरोप में फंसाने का आरोप लगाया.

21 सितंबर की रात महाराष्ट्र बॉर्डर से राजनांदगांव आ रहे जयराम दुबे की गाड़ी को पुलिस ने रोका. चेकिंग करने पर गाड़ी से 13 लीटर शराब बरामद हुई. पुलिस ने गाड़ी और शराब को जब्त कर जयराम दुबे को आबकारी एक्ट में गिरफ्तार कर लिया.

छत्तीसगढ़ की सियासत के केंद्र में जयराम दुबे

गिरफ्तारी के बाद अब कांग्रेस और बीजेपी आमने सामने हैं. गुरुवार रायपुर जिला बीजेपी कार्यालय में प्रदेश प्रवक्ता केदार गुप्ता ने जयराम दुबे को रिहा करने की मांग की. केदार गुप्ता ने कांग्रेस पर षड्यंत्र करने का आरोप लगाया. बीजेपी का कहना है कि जयराम दुबे सूचना का अधिकार कानून (RTI) के तहत सरकार की पोल खोल रहे थे. तमाम विभागों में चल रहे भ्रष्टाचार की परतें उधड़ने से सरकार दमन का डंडा चला रही है. बीजेपी नेताओं, कार्यकर्ताओं पर झूठे मामले दर्ज किए जा रहे हैं. केदार गुप्ता ने कहा कि बीजेपी नेता जयराम दुबे की सक्रियता से सरकार घबरा गई है.

शराब तस्करी के आरोप में बीजेपी नेता अरेस्ट

शराब के अवैध परिवहन का फर्जी मामला इसलिए दर्ज किया गया है. जयराम ने आबकारी विभाग सहित तमाम विभागों में चल रहे भारी भ्रष्टाचार की पोल खोल दी है. उन्होंने 200 से ज्यादा आरटीआई आवेदन लगाए हैं. रायपुर में प्रेस कांफ्रेंस कर कांग्रेस संचार विभाग प्रमुख सुशील आनंद शुक्ला ने जयराम दुबे को बीजेपी से निकालने की मांग करते हुए कहा कि बार्डर पर सीसीटीवी कैमरे लगे है. सीसीटीवी फुटेज में गाड़ी की रिकॉर्डिंग है. आरोपी की गाड़ी की जब्ती के समय वीडियो रिकॉर्डिंग की गयी थी. गाड़ी में जय सियाराम लिख कर शराब तस्करी का काम जयराम दुबे कर रहा था.

बीजेपी ने कांग्रेस पर लगाया फंसाने का आरोप

गाड़ी पर बीजेपी आरटीआई प्रकोष्ठ भी लिखा था. शुक्ला ने आगे बताया कि शराब की बरामदगी के समय जयराम दुबे ने खुद को बीजेपी नेता होने की धमकी दी. उसने कहा कि मेरी पहुंच रमन सिंह, राजेश मूणत, अजय चंद्राकर तक है. पुलिस को धमकाया ‘दुश्मनी ले रहे देख लूंगा’. राजनांदगांव जिले में इन दिनों नशा उन्मूलन अभियान चलाया जा रहा है. पुलिस अभियान के तहत जिले में लगातार चेकिंग कर रही है. 21 सितंबर की रात को चिचोला पुलिस ने गश्त के दौरान जयराम दुबे को शराब तस्करी करते पकड़ा. पुलिस ने दुबे के खिलाफ आबकारी एक्ट का मामला दर्ज किया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.